BankEconomicsEducational NewsGroup Insuranceumang

मध्यप्रदेश -राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत ग्राम बड़बेली (कालपीपल)जिला शाजापुर, में संचालित एकता स्वसहायता समूह की सदस्य श्रीमती माधुरी सोनटक्के ने अपने समूह एवं बैंक से ऋण लेकर स्वयं का व्यवसाय शुरू किया। इस व्यवसाय से उसे प्रतिदिन लगभग 700 रूपये से अधिक की आमदनी हो रही है।

स्वसहायता समूह से ऋण लेकर स्वयं का व्यवसाय शुरू किया माधुरी ने
————–
मध्यप्रदेश डे-राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत ग्राम बड़बेली में संचालित एकता स्वसहायता समूह की सदस्य श्रीमती माधुरी सोनटक्के ने अपने समूह एवं बैंक से ऋण लेकर स्वयं का व्यवसाय शुरू किया। इस व्यवसाय से उसे प्रतिदिन लगभग 700 रूपये से अधिक की आमदनी हो रही है।

श्रीमती माधुरी ने मनिहारी दुकान, जनरल सामग्री एवं फूलबत्ती निर्माण के लिए विगत वर्ष माह नवम्बर में बैंक ऑफ इंडिया की नांदनी शाखा से एक लाख रूपये का ऋण लिया। साथ ही उन्होंने 20 हजार रूपये का स्वयं का अंशदान एवं 30 हजार रूपये स्वसहायता समूह से भी ऋण के रूप में प्राप्त किये। इस प्रकार डेढ़ लाख रूपये से उसने उक्त व्यवसाय शुरू किया, जिससे उसे प्रतिदिन 700 रूपये से अधिक की आमदनी होने लगी है।

श्रीमती माधुरी ने बताया कि ऋण लेने के पहले वह छोटी परचून की दुकान चलाती थी। साथ ही वह जून 2014 में एकता स्व सहायता समूह से जुड़ी और उसने समूह के सचिव के रूप में काम भी किया। उसके समूह की 07 महिलाओं ने विगत वर्ष गणवेश सिलाई का भी काम किया, जिससे उन्हें अच्छी-खासी आमदनी हुई है। इसके अलावा श्रीमती माधुरी को पशुधन से प्रतिमाह 6 हजार रूपये की आमदनी हो रही है। अपने व्यवसाय के बलबूते वह अपनी दो पुत्रियों को अच्छी शिक्षा दे रही है। श्रीमती माधुरी की दो पुत्रियां हैं, जिसमें एक पुत्री विज्ञान विषय से स्नातक की पढ़ाई कर रही है। वही छोटी पुत्री कक्षा 9वी में है।

श्रीमती माधुरी अपने व्यवसाय और मिशन से मिले सहयोग से खुश है। वह अन्य महिलाओं के लिए प्रेरणा का केन्द्र बन गई है। श्रीमती माधुरी कहती है कि दृढ़ इच्छा शक्ति हो तो महिलाएं हर काम को आसान कर सकती हैं। आज उसने व्यवसाय के क्षेत्र में कदम बढ़ाया है, जिससे उसे आमदनी हो रही है।

Show More

Leave a Reply

Back to top button
Close

Adblock Detected

Please Close Adblocker to show content