corona

छोटी सी चूक घर के 27 लोग हो गए corona पॉजिटिव

कोरोना पाॅजिटिव

इंदौर, 7 अगस्त (ईएमएस)। एरोड्रम क्षेत्र के साठ फुट रोड वाले पल्हर नगर में जरा-सी चूक से पूरा परिवार (27 लोग) कोरोना पाॅजिटिव हो गया। चूक यह हो गई कि गमी में आकर एक बीमार मरीज ने दस्तक दी। उसका इतना प्रभाव पड़ा कि 6 साल के बच्चे से लेकर 70 साल के बुजुर्ग तक कोरोना की चपेट में आए थे। पल्हर नगर में ईनाणी परिवार रहता है। इस घर में खुशी का माहौल था, क्योंकि कोरोना वायरस का शिकार हुआ सत्ताइसवां सदस्य स्वस्थ होकर घर लौटा था। करीब एक महिना किस तरक गुजरा ये सोचकर ही परिवार सिहर उठता है। माहेश्वरी समाज के अशोक ईनाणी और भाजपा नेता देवेंद्र ईनाणी के पिता सूरजमल ईनाणी का 85 साल की उम्र में तीन जुलाई को निधन हो गया था।

बड़ा परिवार होने से गमी में इकट्ठा हुए लोगों की तादाद भी ज्यादा थी। इन्हीं लोगों में उनके एक रिश्तेदार भी शामिल हुए, जो पंद्रह दिन से बीमार चल रहे थे। यहीं चूक हो गई। इस रिश्तेदार की तबीयत जब लगातार बिगड़ती गई, तो उनका कोरोना टेस्ट हुआ। जैसे ही पता चला [.])

पल्हर नगर में ईनाणी परिवार रहता है। इस घर में खुशी का माहौल था, क्योंकि कोरोना वायरस का शिकार हुआ सत्ताइसवां सदस्य स्वस्थ होकर घर लौटा था। करीब एक महिना किस तरक गुजरा ये सोचकर ही परिवार सिहर उठता है।

यह भी पढ़े मध्यप्रदेश में कोरोना का अब तक का सबसे बड़ा कहर पिछले 24 घंटे में तोड़े सारे रिकॉर्ड जनियेब तक सबसे अधिक 734 कोविड19 पॉजिटिव केस मिले जाने जिलेवार मरीजों की संख्या

माहेश्वरी समाज के अशोक ईनाणी और भाजपा नेता देवेंद्र ईनाणी के पिता सूरजमल ईनाणी का 85 साल की उम्र में तीन जुलाई को निधन हो गया था। बड़ा परिवार होने से गमी में इकट्ठा हुए लोगों की तादाद भी ज्यादा थी। इन्हीं लोगों में उनके एक रिश्तेदार भी शामिल हुए, जो पंद्रह दिन से बीमार चल रहे थे। यहीं चूक हो गई। इस रिश्तेदार की तबीयत जब लगातार बिगड़ती गई, तो उनका कोरोना टेस्ट हुआ। जैसे ही पता चला कि वे कोरोना पाॅजिटिव हैं तो गमी में शामिल हुए परिवार के लोगों में दहशत फैल गई।

इस रिश्तेदार को एमटीएच में भर्ती कराने के साथ ही गमी में शामिल हुए 45 लोगों का कोरोना टेस्ट कराया गया। जब रिपोर्ट आई तो सबके होश उड़ गए क्योंकि सत्ताईस लोग कोरोना पाॅजिटिव पाए गए। इसमें छह साल की बच्चा था, तो सत्तर साल के बुजुर्ग भी। नौ लोगों को इंडेक्स अस्पताल भेजा, दो को सेवाकुंज अस्पताल कनाडिया, छह को एमआरटीबी तो सात को अरबिंदो अस्पताल में भर्ती कराया गया। बचे हुए लोगों को होम क्वारेंटाइन किया। जब सभी को इलाज के लिए भर्ती किया जा रहा था तो खबर आई कि जिस रिश्तेदार की वजह से परिवार में कोरोना फैला, उसका भी निधन हो गया है। इससे परिवार में भय का वातावरण बना रहा।

Join whatsapp for latest update

वक्त बीतता गया और खुशी की बात यह रही कि सभी धीरे-धीरे निगेटिव होते गए और घर आते गए। कल देवेंद्र ईनाणी के बडे भाई श्याम माहेश्वरी (ईनाणी) कोरोना को मात देकर घर पहुंचे। वे स्वस्थ होने वाले सत्ताइसवें यानी आखिरी व्यक्ति थे। उनके घर पहुंचते ही जश्न का माहौल था। ढोल, नगाड़ों और आतिशबाजी से उनका स्वागत हुआ।

Join telegram
Show More

Leave a Reply

Back to top button
Close

Adblock Detected

Please Close Adblocker to show content