AgniveereducationEmployeeGovt Scheme

🔥 Big Breaking 🔥 अग्निवीर की तर्ज पर बैंकों में भी रखे जाएंगे कर्मचारी, बैंकों ने शुरू की तैयारी

सेना में अग्निवीरों की तर्ज पर अब बैंकों में भी कर्मचारियों की बहाली होगी। यह कर्मचारी कॉन्ट्रेक्ट पर रखे जाएंगे। देश का सबसे बड़ा सरकारी बैंक एसबीआई अपना खर्च कम करने को मानव संसाधन संबंधित मुद्दों के लिए अलग कंपनी शुरू करने जा रहा है। स्टेट बैंक की ऑपरेशन और सपोर्ट सब्सिडियरी को हाल ही में आरबीआई से सैद्धांतिक स्वीकृति मिल गई है। कंपनी ग्रामीण और अर्द्ध-शहरी क्षेत्रों में बैंक शाखाओं में कर्मचारियों का प्रबंधन करेगी।

सेना में अग्निवीरों की तर्ज पर अब बैंकों में भी कर्मचारियों की बहाली होगी। यह कर्मचारी कॉन्ट्रेक्ट पर रखे जाएंगे। देश का सबसे बड़ा सरकारी बैंक एसबीआई अपना खर्च कम करने को मानव संसाधन संबंधित मुद्दों के लिए अलग कंपनी शुरू करने जा रहा है। स्टेट बैंक की ऑपरेशन और सपोर्ट सब्सिडियरी को हाल ही में आरबीआई से सैद्धांतिक स्वीकृति मिल गई है। कंपनी ग्रामीण और अर्द्ध-शहरी क्षेत्रों में बैंक शाखाओं में कर्मचारियों का प्रबंधन करेगी।
🔥 Big Breaking 🔥 अग्निवीर की तर्ज पर बैंकों में भी रखे जाएंगे कर्मचारी, बैंकों ने शुरू की तैयारी 6

बैंकिंग विशेषज्ञों के मुताबिक बैंक यह कदम उठाकर अपने लागत-आय अनुपात को कम करना चाहता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि SBI ने देश भर में बैंक शाखाओं का एक बहुत बड़ा नेटवर्क स्थापित किया है। चालू वित्त वर्ष 2022-23 की पहली तिमाही में वेतन एसबीआई के कुल ऑपरेशन खर्च में वेतन का हिस्सा लगभग 45.7 प्रतिशत और सेवानिवृत्ति लाभ और अन्य प्रावधानों का 12.4 प्रतिशत था।

ऑल इंडिया बैंक ऑफिसर्स एसोसिएशन के संयुक्त सचिव डीएन त्रिवेदी ने कहा कि स्टेट बैंक ऑपरेशन सपोर्ट सर्विसेज के माध्यम से जितने भी कर्मचारी नियुक्त किए जाएंगे वे अनुबंध के आधार पर होंगे। एसबीआई के स्थायी कर्मचारियों को मिलने वाले सभी लाभ संविदा कर्मचारियों को नहीं मिलेंगे।

Agniveer Recruitment 2022 अन्य बैंक भी बड़ा सकते हैं कदम

इस नई व्यवस्था से पूरे बैंकिंग उद्योग पर असर पड़ेगा। एसबीआई ऑपरेशंस सपोर्ट सर्विसेज (SBI Operations Support Services) भारतीय बैंकिंग उद्योग में अपनी तरह की पहली सहायक कंपनी होगी। हालांकि अब अन्य बैंक भी इस दिशा में कदम उठा सकते हैं। सूत्रों के मुताबिक, कई बैंकों ने पहले ही RBI को ऐसी सहायक कंपनियां स्थापित करने का प्रस्ताव दिया था लेकिन तब RBI ने इसकी अनुमति नहीं दी थी। लेकिन, अब एसबीआई से अनुमति मिलने के बाद अन्य बैंक भी ऐसी सहायक कंपनियों के लिए अपने पुराने प्रस्तावों को एक बार फिर से आगे बढ़ाने के लिए RBI से मंजूरी ले सकते हैं। इस प्रकार यह अग्निवीर (Agniveer Recruitment 2022) की तरह एक नई बहाली योजना बनने जा रही है।

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close

Adblock Detected

Please Close Adblocker to show content