educationexamMp news

मध्य प्रदेश में पांचवीं व आठवीं की बोर्ड परीक्षा अप्रैल में होने की संभावना , ये रहेगा पैटर्न Digital Education Portal

कोविड-19 के बढ़ते मामलों के कारण परीक्षा निरस्त हुई तो वर्कशीट के माध्यम से वार्षिक मूल्यांकन होगा।

Capture2021 12 2617. 24. 04
मध्‍य प्रदेश में पांचवीं व आठवीं की बोर्ड परीक्षा अप्रैल में होने की संभावना

भोपाल, digital Education Portal प्रतिनिधि। प्रदेश में स्कूल शिक्षा विभाग 13 साल बाद फिर से पांचवीं-आठवीं की बोर्ड परीक्षा शुरू करेगा। बोर्ड परीक्षा इसी सत्र 2021-22 से शुरू होगी। स्कूल शिक्षा राज्‍यमंत्री इंदर सिंह परमार के निर्देश पर इस सत्र से पांचवीं व आठवीं कक्षा के विद्यार्थियों की बोर्ड परीक्षा ली जाएगी। इसके लिए राज्य शिक्षा केंद्र ने रूपरेखा तैयार कर ली है। यह परीक्षा अप्रैल में होने की संभावना है। इस सत्र से 13 साल बाद पांचवीं व आठवीं की बोर्ड परीक्षा ली जाएगी। हालांकि 2019 में पांचवीं व आठवीं में बोर्ड की तर्ज पर वार्षिक परीक्षा ली गई थी, लेकिन कोविड के कारण दो पेपर नहीं हो पाए थे तो उस साल बच्‍चों को जनरल प्रमोशन दे दिया गया थ। वहीं 2020 में पहली से आठवीं तक की कक्षाओं के विद्यार्थियों के घर-घर वर्कशीट भेजकर वार्षिक मूल्यांकन किया गया था। अगर इस साल भी कोविड के मामले बढ़ते हैं तो राज्य शिक्षा केंद्र ने प्लान बी भी तैयार किया है। अगर कोविड के बढ़ते मामलों के कारण परीक्षा नहीं हुई तो बच्चों के घर-घर वर्कशीट भेजकर होम बेस्ड परीक्षा ली जाएगी। इसमें 40 फीसद प्रोजेक्ट आधारित मूल्यांकन होगा और 60 फीसद सैद्धांतिक परीक्षा ली जएगी।

2007-08 से बंद कर दी गई पांचवीं-आठवीं की बोर्ड परीक्षा

प्रदेश में पांचवीं-आठवीं के विद्यार्थियों की बोर्ड परीक्षा 2007-08 में बंद कर दी गई थी। निश्‍शुल्क एवं अनिवार्य शिक्षा का अधिकार अधिनियम (आरटीई) लागू होने के बाद पहली से आठवीं तक के छात्रों की परीक्षा बंद कर वार्षिक मूल्यांकन शुरू कर दिया था। आरटीई के तहत किसी भी छात्र को फेल नहीं किया जा सकता था। इससे मूल्यांकन में स्कूलों में सभी विद्यार्थियों को पास किया जाने लगा। इससे कमजोर छात्र भी पास होने लगे। केंद्र की अनुमति मिलने के बाद मप्र शासन ने 2019 में आरटीई में संशोधन किया। इसके तहत पांचवीं व आठवीं के विद्यार्थियों की बोर्ड पैटर्न पर वार्षिक परीक्षा होगी। साथ ही फेल होने वाले विद्यार्थियों को आगे की कक्षा में प्रमोट नहीं किया जाएगा।

कोरोना के मामले बढ़े तो घर पर वर्कशीट भेजकर मूल्यांकन होगा

कोविड-19 के बढ़ते मामलों के कारण अगर परीक्षा निरस्त हुई तो राज्य शिक्षा केंद्र ने प्लान बी भी तैयार किया है। कोरोना की तीसरी लहर मार्च के अंत में बढ़ने की आशंका है। ऐसे में बोर्ड परीक्षाएं नहीं हुई तो विद्यार्थियों को घर-घर वर्कशीट भेजी जाएगी। वर्कशीट पर बच्‍चों द्वारा जवाब लिखने के बाद अभिभावक उसे स्कूल में जमा करेंगे।
  • #Bhopal News
  • #MP News
  • #MP Education News
  • #5th-8th board exam
  • #Bhopal News in Hindi
  • #Bhopal Latest News
  • #Bhopal Samachar
  • #MP News in Hindi
  • #Madhya Pradesh News
  • #भोपाल समाचार
  • #मध्य प्रदेश समाचार

हमारे द्वारा प्रकाशित समस्त प्रकार के रोजगार एवं अन्य खबरें संबंधित विभाग की वेबसाइट से प्राप्त की जाती है। कृपया किसी प्रकार के रोजगार या खबर की सत्यता की जांच के लिए संबंधित विभाग की वेबसाइट विजिट करें | अपना मोबाइल नंबर या अन्य कोई व्यक्तिगत जानकारी किसी को भी शेयर न करे ! किसी भी रोजगार के लिए व्यक्तिगत जानकारी नहीं मांगी जाती हैं ! डिजिटल एजुकेशन पोर्टल किसी भी खबर या रोजगार के लिए जवाबदेह नहीं होगा .

Team Digital Education Portal

शैक्षणिक समाचारों एवं सरकारी नौकरी की ताजा अपडेट प्राप्त करने के लिए फॉलो करें

Follow Us on Telegram
@digitaleducationportal
@govtnaukary

Telegram Govt Job

Follow Us on Facebook
@digitaleducationportal @10th12thPassGovenmentJobIndia

Follow Us on Whatsapp
@DigiEduPortal
@govtjobalert

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close

Adblock Detected

Please Close Adblocker to show content