Activityeducation

ई कंटेंट के लिए देश का पहला राज्य बनेगा मध्य प्रदेश , 10 नवंबर तक 1 हजार से अधिक मॉड्यूल होंगे तैयार, प्रथम वर्ष के लिए तैयार किए जायेंगे 1500 मॉड्यूल्स के ई-कंटेंट- DrMohanYadav

@highereduminmp मंत्री @DrMohanYadav51 ने बताया कि प्रदेश में राष्ट्रीय शिक्षा नीति में प्रथम वर्ष के पाठ्यक्रमों के लिए प्रथम चरण में सभी संकायों के 17 मुख्य विषयों का ई-कंटेंट तैयार किया जा रहा है।

ई कंटेंट के लिए देश का पहला राज्य बनेगा मध्य प्रदेश , 10 नवंबर तक 1 हजार से अधिक मॉड्यूल होंगे तैयार, प्रथम वर्ष के लिए तैयार किए जायेंगे 1500 मॉड्यूल्स के ई-कंटेंट- drmohanyadav
ई कंटेंट के लिए देश का पहला राज्य बनेगा मध्य प्रदेश , 10 नवंबर तक 1 हजार से अधिक मॉड्यूल होंगे तैयार, प्रथम वर्ष के लिए तैयार किए जायेंगे 1500 मॉड्यूल्स के ई-कंटेंट- Drmohanyadav

10 नवंबर तक 1 हजार से अधिक मॉड्यूल होंगे तैयार

उन्होंने बताया कि 10 नवंबर तक एक हजार से अधिक ई-कंटेंट मॉडल तैयार किए जाने की कार्य-योजना है। प्रथम वर्ष के लिए लगभग 1500 मॉड्यूल्स के ई-कंटेंट तैयार करने का लक्ष्य है। द्वितीय चरण में कुछ अन्य विषयों पर भी कंटेंट तैयार किए जाएंगे।

सर्वाधिक e-content वाला पहला राज्य होगा मध्य प्रदेश

डॉ. मोहन यादव ने कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 के आधार पर ई-कंटेंट उपलब्ध कराने वाला मध्यप्रदेश संभवत देश का पहला राज्य होगा। उच्च शिक्षा मंत्री ने कहा कि प्रदेश के महाविद्यालयों में विद्यार्थियों को कोर्स की किताबों के अलावा पढ़ाई के लिए ई-मटेरियल भी उपलब्ध होगा।

ऑनलाइन माध्यम से गुणवत्तापूर्ण शिक्षा मिले इसके संपूर्ण प्रयास किए जा रहे हैं। डॉ. यादव ने कहा कि तैयार किए जा रहे कंटेंट विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के नियम अनुसार वीडियो व्याख्यान, ई-टेक्स्ट, मूल्यांकन के प्रश्न तथा अन्य विषय-वस्तु के संदर्भ उपलब्ध होंगे।

E-content के लिए 1400 शिक्षक कर रहे हैं नि:शुल्क कार्य

उल्लेखनीय है कि प्रदेश की शासकीय, अशासकीय विश्वविद्यालयों तथा महाविद्यालयों के नियमित शिक्षकों, अतिथि विद्वानों द्वारा यह कार्य नि:शुल्क किया जा रहा है। इस कार्य के लिए लगभग 1400 शिक्षकों से आवेदन प्राप्त हुए।

इन शिक्षकों के लिए सात बैंचों में 6 दिवसीय फैकल्टी डेवलपमेंट प्रोग्राम आयोजित किया गया। इसमें कुल 1056 शिक्षकों को सफलतापूर्वक एफडीपी पूर्ण करने पर प्रमाण-पत्र जारी किया गया।

Join whatsapp for latest update

वनस्पति शास्त्र, प्राणी शास्त्र, रसायन शास्त्र, भौतिक शास्त्र, गणित, संस्कृत, अंग्रेजी साहित्य, आधार पाठ्यक्रम, राजनीति विज्ञान, भूगोल, अर्थशास्त्र, समाजशास्त्र पाठ्यक्रमों का विभिन्न चयनित शिक्षकों को 17 विषयों मॉड्यूल वार विभाजन कर कंटेंट तैयार करने का कार्य सौंपा गया है।

शेष विषयों में शिक्षकों की संख्या कम होने के कारण पुनः आवेदन आमंत्रित किए जाएंगे। इसके अलावा मुख्य तथा अन्य विषयों के साथ वैकल्पिक विषयों पर भी ई-कंटेंट तैयार किया जा रहा है। व्यवसायिक विषयों के पाठ्यक्रम उपलब्ध होने पर उनके भी ई-कंटेंट तैयार किए जाएंगे।

Join telegram

अगर आप को डिजिटल एजुकेशन पोर्टल द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी हो तो कृपया इसे अधिक से अधिक शिक्षकों के साथ शेयर करने का कष्ट करें|

Follow us on google news - digital education portal
Follow Us On Google News – Digital Education Portal
Digital education portal

हमारे द्वारा प्रकाशित समस्त प्रकार के रोजगार एवं अन्य खबरें संबंधित विभाग की वेबसाइट से प्राप्त की जाती है। कृपया किसी प्रकार के रोजगार या खबर की सत्यता की जांच के लिए संबंधित विभाग की वेबसाइट विजिट करें | अपना मोबाइल नंबर या अन्य कोई व्यक्तिगत जानकारी किसी को भी शेयर न करे ! किसी भी रोजगार के लिए व्यक्तिगत जानकारी नहीं मांगी जाती हैं ! डिजिटल एजुकेशन पोर्टल किसी भी खबर या रोजगार के लिए जवाबदेह नहीं होगा

Team Digital Education Portal

Show More

Leave a Reply

Back to top button
Close

Adblock Detected

Please Close Adblocker to show content