educationEducational NewsMp Board

MP Board Exam 2024: आधा उत्तर सही होने पर भी मिलेंगे नंबर, बोर्ड परीक्षा में कॉन्सेप्ट के आधार पर होगा मूल्यांकन

MP Board Exam 2024: आधा उत्तर सही होने पर भी मिलेंगे नंबर, बोर्ड परीक्षा में कॉन्सेप्ट के आधार पर होगा मूल्यांकन

मध्य प्रदेश बोर्ड परीक्षा 2024 में छात्रों को राहत देने के लिए बोर्ड ने कुछ महत्वपूर्ण बदलाव किए हैं। अब छात्रों को आधे उत्तर सही होने पर भी नंबर मिलेंगे। बोर्ड परीक्षा में अब कॉन्सेप्ट के आधार पर मूल्यांकन होगा, न कि केवल रटने पर।

मुख्य बदलाव:

  • आधे उत्तर पर भी नंबर: यदि छात्र उत्तर का आधा हिस्सा सही लिखते हैं, तो उन्हें आधे अंक मिलेंगे।
  • कॉन्सेप्ट पर फोकस: मूल्यांकन छात्र के कॉन्सेप्ट की समझ पर आधारित होगा, न कि केवल रटने पर।
  • उत्तर पुस्तिकाओं की दोबारा जांच: 90% से अधिक अंक प्राप्त करने वाले छात्रों की उत्तर पुस्तिकाओं की दोबारा जांच की जाएगी।

लाभ:

  • छात्रों को प्रोत्साहन: यह बदलाव छात्रों को परीक्षा में बेहतर प्रदर्शन करने के लिए प्रोत्साहित करेगा।
  • रचनात्मक सोच को बढ़ावा: यह बदलाव छात्रों में रचनात्मक सोच को बढ़ावा देगा।
  • सीखने पर ज़ोर: यह बदलाव छात्रों को केवल रटने के बजाय सीखने पर ज़ोर देगा।

आलोचना:

  • मूल्यांकन में कठिनाई: कुछ शिक्षकों का मानना ​​है कि कॉन्सेप्ट के आधार पर मूल्यांकन करना मुश्किल होगा।
  • अंक में भिन्नता: विभिन्न मूल्यांकनकर्ताओं द्वारा दिए गए अंकों में भिन्नता हो सकती है।

भोपाल। माध्यमिक शिक्षा मंडल इस बार चेकिंग निष्पक्ष बनाने के लिए हाई स्कूल और सेकेंडरी के परीक्षाओं के लिए कॉपी चेक करने वाले शिक्षकों को एक “एन्सर की” प्रदान करेंगी जिससे की उनको प्रश्नों के सही उत्तर मालूम करने में आसानी हो और साथ ही समय भी कम लगे।इस “एन्सर की” से शिक्षकों को छात्र ने उत्तर कितना सही लिखा है वो पता करने में सहायता मिलेगी। जिससे छात्र ने उत्तर कितना सही लिखा है उस हिसाब से अंक प्राप्त होंगे। अगर छह नंबर के प्रश्न में आठ बिंदु है और छात्र ने केवल चार बिंदु कवर किया है तो उसको चार अंक ही प्राप्त होंगे। मतलब कुल अंक के आधा।

शिक्षक के अलावा दो और परीक्षक शामिल रहेंगे

चेकिंग के दौरान अलग-अलग विषयों को चेक करने वाले के साथ मुख्य परीक्षक और उप मुख्य परीक्षक भी शामिल होंगे। जिससे जांच निष्पक्ष हो। ऐसे छात्र जिनके अंक 90 प्रतिशत से अधिक है उसकी कॉपी दोबारा चेक की जाएगी। मेरिटोरियस स्टूडेंट्स की कॉपी की जांच फिर से की जाएगी।

Join whatsapp for latest update

सीबीएसई भी इसी पैटर्न पर करता है जांच

हाल ही में आई रिपोर्ट के अनुसार यह तरीका सीबीएसई से लिया गया है, जहां एक कॉपी को तीन लोग जांच करते है जिससे छात्रों का रिजल्ट सही आ सके। इससे यह भी पता चलता है कि किसी शिक्षक से कहीं कोई गलती तो नहीं हुई है। ताकि छात्रों को उनके उत्तर पर सही और पूरे अंक प्राप्त हो।

Join telegram
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Please Close Ad Blocker

हमारी साइट पर विज्ञापन दिखाने की अनुमति दें लगता है कि आप विज्ञापन रोकने वाला सॉफ़्टवेयर इस्तेमाल कर रहे हैं. कृपया इसे बंद करें|