educationMp BoardMp news

MP Education News: स्कूली बच्चों को वीडियो के जरिए सिखाई जा रहीं बातें काम की परीक्षा का डर होगा छूमंतर Digital Education Portal

माशिमं में अतिरिक्‍त सचिव शीला दाहिमा ने तैयार की नौ वीडियोज की प्रेरक सीरीज। वेबसाइट और यूट्यूब पर वीडियो किए जा रहे हैं अपलोड।

भोपाल। परीक्षा में बेहतर करने का दबाव बच्‍चों के लिए झेलना असहनीय होता जा रहा है। कुछ विद्यार्थियों को यह तनाव इस तरह परेशान करता है कि वे पढ़ाई से दूरी बनाने लगते हैं। इस तरह के दबाव से बचाव के लिए विद्यार्थियों को एक सही मार्गदर्शन की जरूरत होती है। दुर्भाग्य से अधिकतर मामलों में ऐसा मार्गदर्शन उपलब्ध नहीं होता। विद्यार्थियों के मनोविज्ञान से अंजान अभिभावक भी चाहकर कुछ खास मदद नहीं कर पाते लेकिन मप्र की आइएएस शीला दाहिमा ने इन विद्यार्थियों की मनोदशा को समझा और अपने काम के बीच समय निकालकर लाखों विद्यार्थियों के लिए कुछ ऐसा काम किया है, जिससे उन्‍हें परीक्षा के डर पर काबू पाने में मदद मिल सकती है।

शीला मध्यप्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल (माशिमं) में अतिरिक्त सचिव हैं। उन्होंने विशेषज्ञों के सुझाव और अपने निजी अनुभवों को मिलाकर एक सीरिज तैयार की है, जिसका नाम ‘बातें काम की’ है। यह वीडियो फार्मेट में है जो नौ भागों में तैयार किया गया है, जिसमें से दो भाग माशिमं की वेबसाइट पर अपलोड कर दिए हैं। इन वीडियोज को विद्यार्थी व अभिभावक देखकर अपनी समस्याओं का समाधान पा सकते हैं। बता दें कि माशिमं की 10वीं व 12वीं की परीक्षाओं में इस वर्ष करीब 18 लाख विद्यार्थी शामिल हो रहे हैं।
‘बातें काम की’ में बताया ऐसे कम करें परीक्षा तनाव
सकारात्मक सोच- विद्यार्थी अपने अंदर सकारात्मक सोच कैसे बनाकर रखें और इसके लिए क्या करें। यह बताया गया है।
कृतज्ञता – हमारे जीवन में क्या अच्छा है और किसने हमारे जीवन को अच्छा बनाने में योगदान दिया है। उनके प्रति कृतज्ञ होना जरूरी है।
स्वयं पर गर्व करना – कई बार विद्यार्थी अपने आप को कमतर समझने लगते हैं या हीन भावना से ग्रस्‍त होने लगते हैं। इसके लिए स्वयं पर गर्व करना उदाहरण के साथ समझाया गया है।
अपनी भावनाएं साझा करना – कोरोना के बाद महसूस हो रहा है कि विद्यार्थियों या अभिभावकों के पास अपनी भावनाएं साझा करने के लिए समय नहीं है। इसमें बताया गया है कि अपनी भावनाएं माता-पिता, शिक्षक, भाई-बहन या दोस्तों से जरूर साझा करें। एक विद्यार्थी के जीवन के उदाहरण के साथ समझाया गया है।
अपनी प्रतिभा को पहचानना- कई लोग अपनी प्रतिभा को पहचानते नहीं हैं और आगे बढ़ते जाते हैं। हर किसी में अलग-अलग प्रतिभा होती है। विद्यार्थियों को अपनी प्रतिभा पहचानकर उसे पूरा करना चाहिए।
प्रकृति से प्रेम- विद्यार्थियों को प्रकृति के संरक्षण के बारे में समझाया गया है।
पढ़ने की आदत- कोरोना के बाद से विद्यार्थियों में पढ़ने की आदत कम हो गई है। इस कारण उन्हें कुछ भी याद नहीं रह रहा है, इसलिए पढ़ने की आदत कैसे डालें। यह बताया गया है।
आत्मविश्वास- विद्यार्थियों में स्कूली जीवन से ही आत्मविश्वास से भरपूर होना चाहिए। आत्मविश्वास से
निरंतर सीखना- यदि हम ठहर जाते हैं और सीखते नहीं हैं तो पीछे रह जाएंगे। इस कारण हर उम्र में कुछ ना कुछ नया सीखते रहना चाहिए।
खुद ही स्क्रिप्ट तैयार कर वीडियो शूट किया
शीला दाहिमा ने बताया कि मंडल की हेल्पलाइन 18002330175 पर इस वर्ष अब तक सवा लाख विद्यार्थियों के फोन आए है। इन्होंने तनाव से दूर रहने व परीक्षा की तैयारियों से जुड़े प्रश्न पूछे। इन्हीं प्रश्नों का अध्ययन-विश्लेषण मैंने शुरू किया। विद्यार्थियों की चिंता और परीक्षा के तनाव के प्रश्नों को समझकर इस पैटर्न के आधार पर उन्हें चिंतामुक्त करने वाले वीडियो तैयार किए। मंडल में काम के दौरान विशेषज्ञों से मिले अनुभव और अपने प्रशासनिक जीवन के उदाहरणों को शामिल करते हुए शीला दाहिमा ने वीडियो बनाए हैं। शीला दाहिमा खुद ही अलग-अलग विषयों पर स्क्रिप्ट तैयार कर वीडियो शूट कर अपलोड कर रही हैं। नौ में से चार वीडियो तैयार हो गए हैं। इस कार्य में उन्हें मंडल की काउंसलर वीणा श्रीवास्तव और माडल स्कूल की हिंदी शिक्षिका रुचि शर्मा का सहयोग मिला है।
अलग-अलग लोकेशन पर शूटिंग किए वीडियो
शीला दाहिमा ने बताया कि विद्यार्थी को वीडियो देखने में बोरियत महसूस ना हो, इसका पूरा ध्यान रखा गया है। राजधानी के अलग-अलग लोकेशन पर शूटिंग की गई है, ताकि विद्यार्थियों को भी अच्छा महसूस हो सके। उन्होंने बताया कि मंडल के वरिष्ठ अधिकारियों ने भी इस कांसेप्ट को पसंद किया और सहयोग भी दिया। इसमें अगला विषय फिटनेस, आहार योग व स्वास्थ्य को रखा है।
हेल्पलाइन में आने वाले फोन की संख्या
2022- 1,16,717
2021- 1,42,712
2020- 1,99,771
2019- 1,23,459
2018- 1,00,611
हेल्पलाइन में जितने विद्यार्थियों के फोन आ रहे थे उनके प्रश्नों का विश्लेषण किया। इसके आधार पर ये प्रेरक वीडियो तैयार करने की योजना बनाई। इससे विद्यार्थियों का लाभ होगा।
– शीला दाहिमा, अतिरिक्त सचिव, माशिमं मप्र
माशिमं की अधिकारी की यह पहल विद्यार्थियों के लिए बहुत सकारात्मक है। इन वीडियो को देखने के बाद विद्यार्थियों के मन से परीक्षा का भय दूर होगा। साथ ही उनमें आत्मविश्वास भी बढ़ेगा। इस तरह के प्रयास से निश्चित तौर पर विद्यार्थी निराशा के भाव से मुक्त होंगे। परीक्षा परिणाम पर भी इसका आशातीत प्रभाव पड़ेगा।
– रश्मि अरुण शमी, प्रमुख सचिव, मप्र स्कूल शिक्षा विभाग
  • # MP Education News
  • # Exam Tension
  • # Sheela Dahima
  • # Motivational Videos
  • # Bhopal News in Hindi
  • # Bhopal Latest News
  • # Bhopal Samachar
  • # MP News in Hindi
  • # Madhya Pradesh News

🔥🔥 Join Our Group For All Information And Update, Also Follow me For Latest Information🔥🔥

🔥 Whatsapp Group Join Now Click Here
🔥 Facebook Page Click Here
🔥 Google News Click Here
🔥 Telegram Channel Click Here
🔥 Telegram Channel Sarkari Yojana Click Here
🔥 Twitter Click Here
🔥 Website Click Here

अगर आप को डिजिटल एजुकेशन पोर्टल द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी हो तो कृपया इसे अधिक से अधिक शिक्षकों के साथ शेयर करने का कष्ट करें|

Follow us on google news - digital education portal
Follow Us On Google News – Digital Education Portal
Digital education portal
Mp Education News: स्कूली बच्चों को वीडियो के जरिए सिखाई जा रहीं बातें काम की परीक्षा का डर होगा छूमंतर Digital Education Portal 8

हमारे द्वारा प्रकाशित समस्त प्रकार के रोजगार एवं अन्य खबरें संबंधित विभाग की वेबसाइट से प्राप्त की जाती है। कृपया किसी प्रकार के रोजगार या खबर की सत्यता की जांच के लिए संबंधित विभाग की वेबसाइट विजिट करें | अपना मोबाइल नंबर या अन्य कोई व्यक्तिगत जानकारी किसी को भी शेयर न करे ! किसी भी रोजगार के लिए व्यक्तिगत जानकारी नहीं मांगी जाती हैं ! डिजिटल एजुकेशन पोर्टल किसी भी खबर या रोजगार के लिए जवाबदेह नहीं होगा|

Team Digital Education Portal

Join whatsapp for latest update

Join telegram
Show More

Leave a Reply

Back to top button
Close

Adblock Detected

Please Close Adblocker to show content