educationEducational NewsMp Boardvocational course

📢Big Breaking📢 MP PRE VOCATIONAL EDUCATION 2022 : 6th क्लास से बच्चों को देंगे टेक्निकल एजुकेशन, मध्यप्रदेश में इसी सत्र से शुरू होंगे प्री-वोकेशनल कोर्स , यहां जाने पूरी जानकारी

MP PRE VOCATIONAL EDUCATION 2022 : प्रदेश के सरकारी स्कूलों में 6ठी के छात्रों को भी स्किल डेवलपमेंट प्रोग्राम के तहत प्री-वोकेशनल कोर्स के 6 ट्रेड के तहत ट्रेनिंग दी जाएगी। यह प्रदेश में पहली बार होगा, जबकि इस तरह के प्रयास देशभर के सरकारी स्कूलों में किए जा रहे हैं।

MP PRE VACATIONA EDUCATION 2022 : नई शिक्षा नीति का स्कूलों में प्रभावी क्रियान्वयन किए जाने को लेकर अब केंद्र सरकार के शिक्षा मंत्रालय ने काम शुरू कर दिया है। इसी कड़ी में यह प्रोग्राम शुरू किया जा रहा है। जिसका फायदा यह होगा की स्कूल से निकलते ही स्टूडेंट के पास ऐसे स्किल होंगे जिससे वह आसानी से रोजगार प्राप्त कर सकेगा। खास बात यह रहेगी कि इस प्रोग्राम को स्टूडेंट के एकेडेमिक कोर्स का हिस्सा ही बना दिया जाएगा, ताकि छात्रों पर पढ़ाई का अनावश्यक भार ना आए। इससे छात्रों को यह फायदा होगा कि वह पढ़ाई के साथ साथ स्किल डेवलपमेंट के क्षेत्र में भी दक्ष हो सकेंगे और 12वीं तक की पढ़ाई पूरी करने के बाद उन्हें सर्टीफिकेट भी मिल सकेगा।

6ठीं से 8वीं के स्टूडेंट के लिए इसी शैक्षणिक सत्र से ही प्री-वोकेशनल कोर्स शुरू किया जाएगा।
Mp Pre Vacationa Education 2022 :

6ठीं से 8वीं के स्टूडेंट के लिए इसी शैक्षणिक सत्र से ही प्री-वोकेशनल कोर्स शुरू किया जाएगा।

इसी शैक्षणिक सत्र से शुरू होगी प्री वोकेशनल की पढ़ाई

शिक्षा बैंक सिंचाई पुलिस ओर प्रशाशन समेत इन विभागों में निकली भर्ती गवर्नमेंट जॉब 2020(Opens in a new browser tab)

शिक्षा विभाग से मिली जानकारी के अनुसार कक्षा 6ठी के स्टूडेंट के लिए इसी शैक्षणिक सत्र 2022- 23 से ही प्री-वोकेशनल कोर्स शुरू किया जाएगा। इसके लिए जो पाठ्यक्रम अभी 9वीं से 12वीं तक के स्टूडेंट के लिए उपयोग किया जा रहा है] उसी में कुछ बदलाव किया जाएगा। उसके बाद नया पाठ्यक्रम केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय से जल्द ही जारी किया जाएगा।

9वीं से 12वीं तक के छात्रों को विभिन्न व्यावसायिक ट्रेड के तहत करवाई जा रही पढ़ाई

सरकारी नौकरी: पश्चिम रेलवे में ट्रेड अप्रेंटिस के 3591 पदों पर भर्ती के लिए करें अप्लाई, 24 जून आवेदन की आखिरी तारीख(Opens in a new browser tab)

स्कूलों से 8वीं के बाद स्कूल ड्रॉप आउट की संख्या ना बढ़े इसके लिए भी स्किल डेवलपमेंट प्रोग्राम को स्कूलों से जोड़ने की शुरूआत हो चुकी है। सरकारी मिडिल स्कूलों में 9वीं से 12वीं तक के छात्रों को विभिन्न ट्रेड के तहत पढ़ाई करवाई जा रही है। इसके चलते प्रत्येक स्कूल में वर्तमान में अधिकतम 2 ट्रेड संचालित किए जा रहे हैं।

Join whatsapp for latest update
स्किल डेवलपमेंट प्रोग्राम के तहत प्री- वोकेशनल कोर्स के 6 ट्रेड के तहत ट्रेनिंग दी जाएगी।

स्किल डेवलपमेंट प्रोग्राम के तहत प्री- वोकेशनल कोर्स के 6 ट्रेड के तहत ट्रेनिंग दी जाएगी।

Pre Vocational Education इन ट्रेड में करवा रहे पढ़ाई

स्कूलों में सबसे ज्यादा ट्रेड ब्यूटी एंड वेलनेस, आईटी, हेल्थ केयर, सिक्योरिटी, एग्रीकल्चर, इलेक्ट्रॉनिक्स एंड हार्डवेयर और रिटेल की ट्रेड चल रही है। इनमें से अधिकतर ट्रेड की लैब भी स्कूलों में उपलब्ध है। इसके नोडल ऑफिसर मिडिल के हेड मास्टर या वरिष्ठ शिक्षक को बनाया गया है।

Join telegram

शिक्षा बैंक सिंचाई पुलिस ओर प्रशाशन समेत इन विभागों में निकली भर्ती गवर्नमेंट जॉब 2020(Opens in a new browser tab)

Pre Vocational Education सबसे ज्यादा स्कूलों में है आईटी ट्रेड

मध्य प्रदेश के हाई एवं हायर सेकेंडरी स्कूलों में वोकेशनल कोर्स चल रहे है। उसमें 6 तरह के ट्रेड के तहत पढ़ाई कराई जा रही है। इसमें बच्चा संस्कृत की जगह अन्य ट्रेड ले सकता है। प्रत्येक स्कूल में लगभग 2 ट्रेड हैं। इसमें सबसे ज्यादा आईटी और हेल्थ केयर का ट्रेड है। जिसमें बच्चों को पढ़ाई करवा रहे हैं।

स्टूडेंट्स को टीसीएस व इंफोसिस के एक्सपर्ट देंगे ट्रेनिंग।

NISHTHA निष्ठा योजना 2020 शिक्षक फ्री ट्रेनिंग प्रोग्राम स्कूलों में प्राथमिक स्तर पर सीखने के परिणामों को बेहतर बनाने के लिए(Opens in a new browser tab)

स्टूडेंट्स को टीसीएस व इंफोसिस के एक्सपर्ट देंगे ट्रेनिंग।

आईटी कंपनियां भी स्टूडेंट को दे रही ट्रेनिंग

जानकारी के अनुसार स्टूडेंट स्कूल से ही कम्प्यूटर में मास्टर होकर बाहर निकले इसके लिए 6 वीं क्लास से ही कम्प्यूटर की शिक्षा अनिवार्य कर दी गई है। कम्प्यूटर शिक्षा में स्टूडेंट बेहतर हो इसके लिए 6ठीं से 8 वीं तक के बच्चों को टीसीएस ट्रेनिंग देगी। जबकि 9वीं से कॉलेज तक के स्टूडेंट को इंफोसिस के एक्सपर्ट ट्रेनिंग देगें।

2013 से हुई थी Vocational Education की शुरूआत

राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा मिशन के तहत में कक्षा 9वीं से 12वीं तक के छात्रों के लिए वोकेशनल कोर्स की शुरूआत 2013-14 में हुई थी। 2014-15 में विकासखंड स्तर के उत्कृष्ट स्कूलों में भी यह शुरू हुआ और फिर 2018-19 तक स्कूलों में वोकेशनल कोर्स शुरू कर दिया गया। अब 4 साल बाद इन्हीं स्कूलों के परिसर या पास में ही स्थित मिडिल स्कूलों में प्री- वोकेशनल कोर्स शुरू किए जाएंगे। इसका मूल उद्देश्य बच्चों को साक्षर के साथ हुनरमंद बनाना भी है।

हमारे द्वारा प्रकाशित समस्त प्रकार के रोजगार एवं अन्य खबरें संबंधित विभाग की वेबसाइट से प्राप्त की जाती है। कृपया किसी प्रकार के रोजगार या खबर की सत्यता की जांच के लिए संबंधित विभाग की वेबसाइट विजिट करें | अपना मोबाइल नंबर या अन्य कोई व्यक्तिगत जानकारी किसी को भी शेयर न करे ! किसी भी रोजगार के लिए व्यक्तिगत जानकारी नहीं मांगी जाती हैं ! डिजिटल एजुकेशन पोर्टल किसी भी खबर या रोजगार के लिए जवाबदेह नहीं होगा .

Team Digital Education Portal

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close

Adblock Detected

Please Close Adblocker to show content