education

डिजिटल इंडिया नेशनल हेल्थ मिशन अंतर्गत बनेंगे डिजिटल हेल्थ कार्ड जाने कहां और कैसे बनवा सकेंगे , क्या होंगे फायदे पूरी जानकारी

‘डिजिटल इंडिया’ स्कीम के तहत भारत सरकार ने नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन (national digital health mission) शुरू किया है. इसका उद्देश्य स्वास्थ्य के क्षेत्र में लोगों को जागरूक कर हेल्थ मिशन से जोड़ना है. इसके साथ ही देश के हर व्यक्ति को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराना है. सरकार इसके लिए टेक्नोलॉजी का ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल करना चाहती है. ऑनलाइन स्तर पर लोगों को जोड़ कर कई प्रकार की सुविधाएं प्रधान करना इस मिशन का लक्ष्य है. ऑनलाइन के चलते ही इसे डिजिटल हेल्थ मिशन (digital health mission) का नाम दिया गया है.

आइए जानते हैं डिजिटल इंडिया नेशनल हेल्थ मिशन जुड़े से फैक्ट्स और उनके जवाब

Table of contents डिजिटल इंडिया नेशनल हेल्थ मिशन

1-नेशनल डिजिटल इंडिया हेल्थ मिशन की शुरुआत कब हुई?

डिजिटल इंडिया नेशनल हेल्थ मिशन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 15 अगस्त 2020 को डिजिटल हेल्थ मिशन की शुरुआत की. साल 2018 में नीति आयोग ने डिजिटल हेल्थ मिशन जैसे स्कीम शुरू करने की सिफारिश की थी, ताकि देश के हर नागरिक के स्वास्थ्य डेटा का एक मेकेनिज्म तैयार किया जा सके.

डिजिटल इंडिया नेशनल हेल्थ मिशन अंतर्गत बनेंगे डिजिटल हेल्थ कार्ड जाने कहां और कैसे बनवा सकेंगे , क्या होंगे फायदे पूरी जानकारी
डिजिटल इंडिया नेशनल हेल्थ मिशन अंतर्गत बनेंगे डिजिटल हेल्थ कार्ड जाने कहां और कैसे बनवा सकेंगे , क्या होंगे फायदे पूरी जानकारी 11

2-नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन का उद्देश्य क्या है?

Subscribe digital education portal Click To get Latest Update

डिजिटल इंडिया नेशनल हेल्थ मिशन योजना के तहत सरकार लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराना चाहती है. सरकार इसके लिए ज्यादा से ज्यादा टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल करना चाहती है. इस दिशा में काम करने के लिए सरकार एक एप भी बना रही है. इस मिशन के तहत देश के हर व्यक्ति की एक हेल्थ आईडी बनेगी.

3-हेल्थ आईडी क्या है? यह कैसे काम करेगी?

डिजिटल हेल्थ मिशन के तहत सरकार हर व्यक्ति की यूनिक आईडी तैयार करेगी. इस आईडी के साथ उस व्यक्ति के मेडिकल रिकॉर्ड का बैकअप तैयार किया जाएगा. इस आईडी की मदद से किसी व्यक्ति का पूरा मेडिकल रिकॉर्ड देखा जा सकेगा. किसी डॉक्टर के पास वह व्यक्ति जाएगा तो अपनी हेल्थ आईडी दिखाएगा. उससे पता चल जाएगा कि इससे पहले क्या इलाज चला, किन डॉक्टरों से परामर्श लिया और कौन-कौन सी दवाएं पहले चलाई गई हैं.

4- नेशनल हेल्थ अथॉरिटी क्या है और हेल्थ मिशन के साथ कैसे जुड़ा है?

Subscribe digital education portal Click To get Latest Update

नेशनल हेल्थ अथॉरिटी (NHA) नेशनल डिजिटल हेल्थ मिशन का एक अंग है. हेल्थ आईडी बनाने में एनएचए का रोल प्रमुख होगा. किस व्यक्ति की हेल्थ आईडी बनेगी, डिजिटल रूप में उसके हेल्थ रिकॉर्ड्स जुटाने जैसी सभी प्रक्रिया को एनएचए निर्धारित करेगा. हेल्थ आईडी बनाने से पहले डिजिटल रूप में हेल्थ रिकॉर्ड्स जमा करने का आदेश एनएचए की तरफ से दिया जाएगा.

5-हेल्थ आईडी में क्या-क्या दर्ज होगा?

जिस व्यक्ति की हेल्थ आईडी बनानी है, उसका मोबाइल और आधार नंबर लिया जाएगा. इन दो नंबर के आधार पर हेल्थ आईडी बनाई जाएगी. इसलिए इन दोनों नंबर के आधार पर बनने वाली आईडी हर व्यक्ति के लिए यूनिक होगी. हेल्थ आईडी से आपके हेल्थ रिकॉर्ड्स जुड़ेंगे या नहीं, ये वही व्यक्ति तय करेगा जिसकी आईडी बननी है.

6-कोई व्यक्ति हेल्थ आईडी कैसे बनवा सकता है, इसका क्या तरीका है?

Subscribe digital education portal Click To get Latest Update

पब्लिक हॉस्पिटल, कम्युनिटी हेल्थ सेंटर, हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर या वैसा हेल्थकेयर प्रोवाइडर जो नेशनल हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर रजिस्ट्री से जुड़ा हो, किसी व्यक्ति की हेल्थ आईडी बना सकता है. https://healthid.ndhm.gov.in/register पर खुद के रिकॉर्ड्स रजिस्टर करा कर भी आप अपनी हेल्थ आईडी बना सकते हैं.

Join whatsapp for latest update

7- हेल्थ आईडी से जुड़ी किसी दिक्कत के समाधान के लिए कहां संपर्क कर सकते हैं?

हेल्थ आईडी के रजिस्ट्रेशन से जुड़ी किसी परेशानी के लिए [email protected] पर विजिट कर सकते हैं या टोल फ्री नंबर 1800-11-4477 / 14477 पर बात कर सकते हैं.

8-कोरोना काल में डिजिटल हेल्थ मिशन से क्या सुविधा मिल सकती है?

कोरोना महामारी को देखते हुए सरकार ने देश में स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर करने और हेल्थ फैसिलिटी को उन्नत बनाने का फैसला किया है. सरकार टेक्नोलॉजी की मदद से इस दशा में तेजी से काम कर रही है. सरकार का कहना है कि इस योजना से लोग स्वास्थ्य सुविधाएं आसानी से प्राप्त कर सकते हैं.

Join telegram

9- 18 साल से कम उम्र के बच्चे की हेल्थ आईडी बनाई जा सकती है?

हां, बनाई जा सकती है. इसमें आधार नंबर और मोबाइल नंबर की जरूरत होगी. आईडी बनाने की प्रक्रिया सबसे लिए समान है. नवजात बच्चे की भी आईडी बनाने के लिए रजिस्ट्रेशन कराया जा सकता है. इसके लिए रजिस्ट्रार ऑफिस से बर्थ सर्टिफिकेट की जरूरत होगी.

Subscribe digital education portal Click To get Latest Update

10- हेल्थ आईडी बनाने के लिए कागजात जमा कराने की जरूरत होगी?

नहीं, यह पूरा सिस्टम ऑनलाइन होगा. इस मिशन में सभी काम पेपरलेस करने की जरूरत पर बल दिया जा रहा है. हेल्थ आईडी या बाद में इसे किसी डॉक्टर या अस्पताल में देते वक्त किसी कागजात को जमा कराने की जरूरत नहीं होगी.

शैक्षणिक समाचारों एवं

Follow Us on Telegram
@digitaleducationportal
@govtnaukary

सरकारी नौकरी की ताजा

Follow Us on Facebook
@digitaleducationportal @10th12thPassGovenmentJobIndia

Show More

Leave a Reply

Back to top button
Close

Adblock Detected

Please Close Adblocker to show content