education

💥मध्य प्रदेश शिक्षक भर्ती Big Breaking 💥 : डबल डिग्री धारक, एटीकेटी सहित अन्य कारणों से अमान्य हुवे उच्च माध्यमिक माध्यमिक शिक्षक भर्ती अभ्यर्थियों के लिए खुशखबरी, डीपीआई में गठित की समिति, 28 मार्च तक देना होगी रिपोर्ट

मध्य प्रदेश स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा उच्च माध्यमिक माध्यमिक शिक्षक भर्ती की गई हैं एवं वर्तमान में प्रतीक्षा सूची से चयनित अभ्यर्थियों की भी भर्ती प्रक्रिया प्रचलित है।

हजारों अभ्यर्थियों के लिए उम्मीद की किरण

आपको बता दें कि उच्च माध्यमिक माध्यमिक शिक्षक भर्ती के डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन के दौरान हजारों अभ्यर्थियों को डबल डिग्री धारण करने एटीकेटी प्राप्त होने एवं स्नातक के विषय में अंग्रेजी भाषा या हिंदी भाषा होने नियमित एवं प्राइवेट रूप से स्नातक अथवा बीएड करने आदि कारणों के कारण हजारों अभ्यर्थियों की पात्रता निरस्त कर दी गई हैं। जिसके चलते यह अभ्यर्थी डीपीआई तथा न्यायालय की शरण में गए लेकिन अभी तक इनका निराकरण नहीं हो पाया है जिसके कारण पात्र होने के बावजूद अपात्र हुए इन अभ्यर्थियों में काफी निराशा हैं।

💥मध्य प्रदेश शिक्षक भर्ती big breaking 💥 : डबल डिग्री धारक, एटीकेटी सहित अन्य कारणों से अमान्य हुवे उच्च माध्यमिक माध्यमिक शिक्षक भर्ती अभ्यर्थियों के लिए खुशखबरी, डीपीआई में गठित की समिति, 28 मार्च तक देना होगी रिपोर्ट
Mp Teacher Recruitment Dpi Constituted Committee

लेकिन अब इन अभ्यर्थियों के लिए राहत बड़ी खबर आ रही है। जी हां यदि आप भी उच्च माध्यमिक माध्यमिक शिक्षक भर्ती परीक्षा में पात्र एवं मेरिट सूची में आने के बावजूद डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन में उपरोक्त में से किसी कारणवश अपात्र घोषित हुए हैं तो आपके लिए यह खबर उम्मीद की एक नई किरण लेकर आइ हैं।

लोक शिक्षण संचालनालय मध्यप्रदेश भोपाल द्वारा उच्च माध्यमिक माध्यमिक शिक्षक भर्ती में पात्र अभ्यर्थियों के निम्नांकित कारणों से अपात्र घोषित किया गया था

डबल डिग्री धारण करने के कारण

उच्च माध्यमिक माध्यमिक शिक्षक भर्ती डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन प्रक्रिया के दौरान सैकड़ों अभ्यर्थियों द्वारा या तो एक नियमित कोर्स के साथ एक प्राइवेट अथवा दूरस्थ शिक्षा प्रणाली (डिस्टेंस एजुकेशन) डिग्री अथवा दोनों कोर्स नियमित या दोनों कोर्स प्राइवेट या दोनों कोर्स दूरस्थ शिक्षा प्रणाली डिस्टेंस एजुकेशन से होने के कारण नियुक्ति प्रकरण को होल्ड अथवा अमान्य किया गया हैं।

एटीकेटी पूरक प्राप्त होने के कारण

मध्य प्रदेश उच्च माध्यमिक माध्यमिक शिक्षक भर्ती दस्तावेज सत्यापन प्रक्रिया के दौरान ऐसे कई अभ्यर्थी थे जिन्हें स्नातक व स्नातकोत्तर के किसी विषय में एटीकेटी पूरक प्राप्त हुई थी एवं पूरक के साथ एक साथ 2 डिग्री करना परिलक्षित हुआ था ।

जैसे कि उदाहरण स्वरूप स्नातक डिग्री सन 2010 में की गई है जिसके परिणाम में पूरक (एटीकेटी)आई हो एवं किसी एक विषय में पूरक की परीक्षा सन 2011 में दी गई है वहीं इसी वर्ष ने की 2011 में ही b.ed अथवा अन्य कोई कोर्स नियमित या प्राइवेट अथवा डिस्टेंस एजुकेशन से किया हो। उपरोक्त कारणों की वजह से भी सैकड़ों अभ्यर्थियों की नियुक्ति को अमान्य या होल्ड किया गया है।

Join whatsapp for latest update

विभिन्न एलाइड सब्जेक्ट (सह विषय) के साथ डिग्री

उच्च माध्यमिक माध्यमिक शिक्षक भर्ती परीक्षा मैं पात्र एवं मेरिट सूची में चयनित अभ्यर्थियों के दस्तावेज वेरिफिकेशन के दौरान पाया गया कि कई अभ्यर्थियों द्वारा विभिन्न सब्जेक्ट एलाइड विषय के साथ लिए गए हैं। सह विषय के रूप में एक से अधिक सब्जेक्ट होने के कारण इन विषयों को विशेष विषय के रूप में नहीं लिया गया जिसके कारण संबंधित हो कि अभ्यर्थीता अमान्य अथवा होल्ड की गई थी।

उदाहरण के तौर पर यदि किसी अभ्यर्थी ने डिस्टेंस एजुकेशन मोड से बीए स्नातक अंग्रेजी , संस्कृत एवं हिंदी एलाइड विषय के साथ किया है। एवं उसका चयन अंग्रेजी संस्कृत अथवा हिंदी में से किसी एक विषय के लिए हुआ है तो ऐसी स्थिति में विभिन्न एलाइड विषयों से स्नातक डिग्री पास होने के कारण ऐसे अभ्यर्थियों को होल्ड अथवा अमान्य किया गया है।

Join telegram

कैमिस्ट्री, मैथ्स, बॉटनी, कॉमर्स और इकोनॉमिक्स आदि में सभी पारंपरिक पाठ्यक्रमों में मूल विषय के साथ एलाइड सब्जेक्ट में भी यूजी और पीजी होता है। कैमिस्ट्री में एप्लाइड कैमिस्ट्री, इंवायर्नमेंटल कैमिस्ट्री और फार्मा कैमिस्ट्री एलाइड सब्जेक्ट हैं। बॉटनी में माइक्रोबॉयोलॉजी, बॉयोटेक्नालॉजी और बॉयो कैमिस्ट्री सह विषय हैं। गणित में एप्लाइड मैथमेटिक्स, इंडस्ट्रियल मैथ्स और इंजीनियरिंग मैथ्स एलाइड सब्जेक्ट हैं।

माध्यमिक शिक्षक अंग्रेजी के लिए स्नातक में अंग्रेजी भाषा की स्थिति

मध्य प्रदेश स्कूल शिक्षा विभाग अंतर्गत उच्च माध्यमिक एवं माध्यमिक शिक्षक भर्ती परीक्षा के दौरान ऐसे अभ्यर्थी जो कि माध्यमिक शिक्षा का अंग्रेजी के लिए चयनित हुए हैं उनके स्नातक डिग्री में अंग्रेजी भाषा विशेष रुप से सम्मिलित नहीं होने के कारण भी उनकी पात्रता को होल्ड अथवा अमान्य किया गया है।

डीपीआई ने गठित की समिति, सात दिवस में निराकरण के निर्देश

लोक शिक्षण संचालनालय मध्यप्रदेश भोपाल द्वारा उपरोक्त कारणों से निरस्त,होल्ड अथवा अमान्य किए गए प्रकरणों के निराकरण के लिए सात दिवस का समय तय करते हुए समिति का गठन किया गया है। आयुक्त लोक शिक्षण संचालनालय मध्यप्रदेश भोपाल द्वारा समिति गठन के आदेश के अनुरूप इस समिति में तीन सदस्यों को लिया गया है। डीपीआई द्वारा गठित की गई समिति में श्री केके द्विवेदी संचालक लोक शिक्षण, श्री डी एस कुशवाहा अपर संचालक लोक शिक्षण एवं श्री संजय कुमार अपर संचालक लोक शिक्षण वित्त को सम्मिलित किया गया है।

यह समिति आयुक्त लोक शिक्षण डीपीआई भोपाल को 7 दिवस के अंदर अपनी रिपोर्ट सबमिट करेगी। डीपीआई द्वारा समिति गठन के आदेश 21 मार्च 2022 को जारी कर दिए गए हैं। अर्थात 21 मार्च से सात दिवस 28 मार्च 2022 तक समिति अपनी रिपोर्ट आयुक्त लोक शिक्षण को प्रस्तुत करेगी।

यह समिति आयुक्त लोक शिक्षण डीपीआई भोपाल को 7 दिवस के अंदर अपनी रिपोर्ट सबमिट करेगी। डीपीआई द्वारा समिति गठन के आदेश 21 मार्च 2022 को जारी कर दिए गए हैं। अर्थात 21 मार्च से सात दिवस 28 मार्च 2022 तक समिति अपनी रिपोर्ट आयुक्त लोक शिक्षण को प्रस्तुत करेगी।
💥मध्य प्रदेश शिक्षक भर्ती Big Breaking 💥 : डबल डिग्री धारक, एटीकेटी सहित अन्य कारणों से अमान्य हुवे उच्च माध्यमिक माध्यमिक शिक्षक भर्ती अभ्यर्थियों के लिए खुशखबरी, डीपीआई में गठित की समिति, 28 मार्च तक देना होगी रिपोर्ट 8

Show More

Leave a Reply

Back to top button
Close

Adblock Detected

Please Close Adblocker to show content