education

MP : भोपाल में 40 घंटे से लगातार बारिश, उफनाई नदियां, खोले गए बांधों के गेट, इलाकों में घुसा पानी, स्कूल बंद, कलेक्टर की अपील Digital Education Portal

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। मध्यप्रदेश में लगातार हो रही बारिश (MP Rains) से हालात बिगड़ गए हैं। 27 जिलों में हाल बेहाल है, जन-जीवन ठहर सा गया है। लगातार बारिश से नर्मदा, चंबल, बेतवा और शिप्रा समेत तमाम छोटी बड़ी नदियां उफान पर हैं। आलम ये है कि सड़कों पर पानी भरा है, पुल-पुलिया डूब गईं है। ऐसे में भोपाल (Bhopal Rains) जिले में मंगलवार 23 अगस्त की छुट्टी घोषित कर दी गई है। इस संबंध में जिला कलेक्टर (collectors) ने आदेश भी जारी कर दिया है। वहीं लोगों से सावधान और सुरक्षित रहने की अपील की है।

लगातार हो रही वर्षा को दृष्टिगत रखते हुए भोपाल कलेक्टर ने सभी नागरिकों से अपील की है कि बाढ़ प्रभावित तथा जलभराव वाले संभावित निचले स्थानों से सुरक्षित ऊंचे स्थानों की ओर जाने की अपील की है। जिले में लगातार हो रही वर्षा को दृष्टिगत रखते कलेक्टर ने मंगलवार 23 अगस्त 2022 को जिले के सभी प्ले स्कूल से 12वीं तक के समस्त शासकीय,अशासकीय, CBSE, तथा केन्द्रीय विद्यालय में विद्यार्थियों के लिए अवकाश घोषित किया है। कलेक्टर ने जिले के सभी नागरिकों से अपील की है कि लगातार हो रही वर्षा के कारण जिन पुल, रपटों के ऊपर से पानी बह रहा हो, उन्हें पार नहीं करें। आवश्यक होने पर आवागमन के लिए सुरक्षित मार्गों का उपयोग करें।

Read More : UGC का उम्मीदवारों को बड़ा तोहफा, बिना PhD किए मिलेगा लाभ, बन सकेंगे प्रोफेसर-विशेषज्ञ

भारी बारिश के कारण राजधानी भोपाल के 2 गांव टापू बन गए दरअसल बैरसिया में हिंगोली और जनकपुरी गांव से टापू में तब्दील हो गए हैं। इन गांव में पानी भरने से लोगों को ऊंचाई पर भेजने का कार्य जारी है 300 लोगों के फंसे होने की खबर सामने आ रही है। प्रशासन और पुलिस द्वारा लोगों का रेस्क्यू किया जा रहा है। भोपाल में पिछले 24 घंटे में 10 इंच से ज्यादा बारिश रिकॉर्ड की गई है।

सुखतवा नदी के उफान पर आने से ओबेदुल्ला गंज बैतूल नेशनल हाईवे सोमवार सुबह 4:00 बजे से बंद कर दिया गया है। इससे पहले गृह अपर मुख्य सचिव राजेश राजौरा ने कहा कि भोपाल के केरवा के आठ के आठ कलियासोत के 13 विदिशा के 10 अशोकनगर के राजघाट के 18 में से 16 गेट खोले गए हैं। जबकि नर्मदा बेसिन के बरगी डैम के 21 में से 17, बरना डैम के छह, तवा डैम के 13, इंदिरा सागर बांध के 12 और ओमकारेश्वर डैम के 18 गेट खोले गए हैं।

राजधानी में पिछले 36 घंटे से लगातार बारिश हो रही रविवार 8:30 बजे से शुरू हुई बारिश से अब तक 200 से ज्यादा इलाकों में पानी घुस गया है। 32 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से आंधी चल रही है। वही बारिश की वजह से नर्मदा शिप्रा बेतवा शिवना कालीसिंध पार्वती और अन्य नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। भोपाल में कलियासोत नदी ने हालत खराब कर दी है। इलाकों में पानी भरने की वजह से कलियासोत कोलार, केरवा और भदभदा डैम भी ओवरफ्लो हो गए। जिसके कारण मंगलवार को ही सारे गेट खोल दिए गए थे।

अगर आप को डिजिटल एजुकेशन पोर्टल द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी हो तो कृपया इसे अधिक से अधिक शिक्षकों के साथ शेयर करने का कष्ट करें|

Join WhatsApp For Latest Update
Follow Us on Google News - Digital Education Portal
Follow Us on Google News – Digital Education Portal
digital Education portal

हमारे द्वारा प्रकाशित समस्त प्रकार के रोजगार एवं अन्य खबरें संबंधित विभाग की वेबसाइट से प्राप्त की जाती है। कृपया किसी प्रकार के रोजगार या खबर की सत्यता की जांच के लिए संबंधित विभाग की वेबसाइट विजिट करें | अपना मोबाइल नंबर या अन्य कोई व्यक्तिगत जानकारी किसी को भी शेयर न करे ! किसी भी रोजगार के लिए व्यक्तिगत जानकारी नहीं मांगी जाती हैं ! डिजिटल एजुकेशन पोर्टल किसी भी खबर या रोजगार के लिए जवाबदेह नहीं होगा

Team Digital Education Portal

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Please Close Ad Blocker

हमारी साइट पर विज्ञापन दिखाने की अनुमति दें लगता है कि आप विज्ञापन रोकने वाला सॉफ़्टवेयर इस्तेमाल कर रहे हैं. कृपया इसे बंद करें|