Tuesday, August 9, 2022
No menu items!
HomeeducationNational Teacher Award 2022 : शिक्षकों के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार 2022 ऑनलाइन...

National Teacher Award 2022 : शिक्षकों के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार 2022 ऑनलाइन आवेदन जमा करने की तिथि में एक बार फिर हुई वृद्धि, 10 जुलाई तक जमा कर सकेंगे राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार के लिए ऑनलाइन आवेदन, यहां जाने पूरी जानकारी, direct link

शिक्षा मंत्रालय नई दिल्ली भारत सरकार द्वारा शिक्षकों को नवाचार तथा शैक्षणिक गुणवत्ता के लिए उपयोग की जाने वाली तकनीकों के क्षेत्र में राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार दिया जाता है। राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार के लिए ऑनलाइन आवेदन जमा करने की अंतिम तिथि 30 जून 2022 की जो कि बढ़ाकर अब 10 जुलाई 2020 कर दी गई है।

National Teacher Award 2022 : शिक्षकों के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार 2022 ऑनलाइन आवेदन जमा करने की तिथि में एक बार फिर हुई वृद्धि, 10 जुलाई तक जमा कर सकेंगे राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार के लिए ऑनलाइन आवेदन

शिक्षकों के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार निरूपण

शिक्षकों को राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित करने का उद्देश्य देश के कुछ श्रेष्ठ शिक्षकों के अदिवतीय योगदान को पहचानना व सराहना है। यह पुरस्कार ऐसे होनहार तथा कर्त्तव्यनिष्ठ शिक्षकों के लिए एक प्रेरणास्त्रोत है जिन्होंने अपनी प्रतिबद्धता और परिश्रम के माध्यम से न केवल स्कूली शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार किया है, बल्कि अपने छात्रों के जीवन को भी समृद्ध बनाया है।

शिक्षक पुरस्कारों हेतु शिक्षकों की पात्रता की शर्तें

  • i) निम्नलिखित श्रेणियों के तहत मान्यता प्राप्त प्राथमिक/माध्‍यमिक/उच्च/उच्चतर माध्यमिक विद्यालयों में काम करने वाले स्कूल शिक्षक और स्कूलों के प्रमुख: क) राज्य सरकार/संघ राज्‍यक्षेत्र प्रशासन द्वारा संचालित स्कूल, स्थानीय निकायों द्वारा संचालित स्कूल, राज्य सरकार/संघ राज्‍यक्षेत्र प्रशासन द्वारा सहायता प्राप्त स्कूल।
  • ख) केन्द्रीय सरकार के स्कूल अर्थात केंद्रीय विद्यालय (केवीएस), जवाहर नवोदय विद्यालय (जेएनवी), रक्षा मंत्रालय (एमओडी) द्वारा संचालित सैनिक स्‍कूल, परमाणु ऊर्जा शिक्षा सोसाइटी (एईईएस) द्वारा संचालित स्कूल।
    ग) केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) से संबद्ध स्कूल (उपर्युक्‍त (क) और (ख) के अलावा)।
    घ) काउंसिल फॉर इंडियन स्कूल्स सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन (सीआईएससीई) से संबद्ध स्कूल (उपर्युक्‍त (क), (ख) और (ग) के अलावा)।
  • ii) सामान्य रूप से, सेवानिवृत्त शिक्षक पुरस्कार के लिए पात्र नहीं होते हैं, लेकिन उन शिक्षकों पर विचार किया जा सकता है जिन्‍होंने कैलेंडर वर्ष के एक भाग (कम से कम चार महीने अर्थात 30 अप्रैल तक, जिस वर्ष से राष्ट्रीय पुरस्कार से संबंधित हैं) तक कार्य किया हो, यदि वे अन्य सभी शर्तों को पूरा करते हैं ।
  • iii) शैक्षिक प्रशासक, शिक्षा निरीक्षक, और प्रशिक्षण संस्‍थान के कर्मचारी इन पुरस्कारों के लिए पात्र नहीं हैं।
  • iv) शिक्षक/मुख्‍याध्‍यापक को ट्यूशनों में शामिल नहीं होना चाहिए।
  • v) केवल नियमित शिक्षक और विद्यालय प्रमुख ही पात्र होंगे।
  • vi) संविदा शिक्षक और शिक्षामित्र पात्र नहीं होंगे।

आवेदन और चयन की प्रक्रिया

  • क) सभी आवेदन एक ऑनलाइन वेब पोर्टल के माध्यम से प्राप्त किए ।
  • ख) शिक्षा मंत्रालय भी पोर्टल में डेटा प्रविष्टि के दौरान पोर्टल में समय पर प्रवेश और तकनीकी और परिचालन मुद्दों के समाधान के बारे में राज्यों/संघशासित प्रदेशों के साथ फिर से समन्वय होगा।
  • ग) एम ओ ई विकास और पोर्टल के लिए पूरा खर्च वहन करेगा ।
  • घ) राज्य/संघ राज्‍यक्षेत्रों के मामले में शिक्षक और विद्यालय प्रमुख स्वयं निर्धारित कट-ऑफ तारीख से पहले वेब पोर्टल के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन पत्र भरकर सीधे आवेदन करेंगे ।
  • ङ) प्रत्येक आवेदक प्रवेश पत्र के साथ ऑनलाइन, एक पोर्टफोलियो जमा करेगा । पोर्टफोलियो में सभी संबंधित सहायक सामग्री जैसे दस्तावेज़, उपकरण, गतिविधियों की रिपोर्ट, क्षेत्र का दौरा, तस्वीरें, ऑडियो या वीडियो आदि शामिल होंगे।
  • च) आवेदक द्वारा घोषणा: प्रत्येक आवेदक यह घोषणा पत्र देगा कि सभी दी गई जानकारी/डेटा उसकी/उसके ज्ञान के अनुसार सही है और अगर बाद की तारीख में कुछ भी असत्‍य पाया जाता है, तो उसके विरूद्ध अनुशासनात्मक कार्रवाई की जा सकती है।

महत्वपूर्ण तारीख

1 जून 2022 से 10 जुलाई, 2022
ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित करने के लिए वेब-पोर्टल खोलना।

11 जुलाई 2022 से 21 जुलाई, 2022
जिला चयन समिति का नामांकन राज्य चयन समिति को ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से अग्रेषित करना।

22 जुलाई 2022 से 31 जुलाई 2022
राज्य चयन समिति की शार्टलिस्‍ट को ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से स्वतंत्र राष्ट्रीय जूरी को अग्रेषित करना

शिक्षकों के चयन हेतु मार्गदर्शन देने के लिए विभिन्‍न स्तर

शिक्षकों का मूल्यांकन संलग्‍नक-। में दिए गए मूल्यांकन मैट्रिक्स के आधार पर किया जाएगा । मूल्यांकन मैट्रिक्स में मूल्यांकन के लिए दो प्रकार के मानदंड हैं:

क) उद्देश्य मानदंड: इसके तहत शिक्षकों को प्रत्येक वस्तुनिष्ठ मानदंड के विरुद्ध अंक प्रदान किए जाएंगे । इन मानदडों में 100 में से 20 को वेटेज दिया जाता है ।

ख) मानदंड प्रदर्शन के आधार पर : इसके तहत , शिक्षकों को प्रदर्शन के आधार पर मानदंडों पर अंक दिए जाएंगे अर्थात सीखने के परिणामों में सुधार करने के पहल, किए गए अभिनव प्रयोग, अतिरिक्त और सह-पाठयक्रम गतिविधियों का आयोजन, शिक्षण-अध्‍ययन सामग्री का प्रयोग, सामाजिक गतिशीलता के उपयोग के संगठन, छात्रों आदि के लिए शारीरिक शिक्षा सुनिश्चित करने के लिए अनुभवात्मक अधिगम को सुनिश्चित करना, अनूठे तरीके से छात्रों को शारीरिक शिक्षा सुनिश्चित करने के लिए अद्धितीय विधि आदि। इन मानदंडों को 100 में से 80 की अधिकारिता दी गई है।

जिला चयन समिति

पहले स्तर की जांच जिला शिक्षा अधिकारी की अध्यक्षता में जिला चयन समिति(डीएससी ) द्वारा की जाएगी। ड़ीएससी के सदस्य इस प्रकार होंगे :

क) जिला शिक्षा अधिकारी : अध्यक्ष
ख) राज्य/संघ शासित सरकार का प्रतिनिधि .: सदस्य
ग) जिला कलेक्टर द्वारा नामित एक विख्यात शिक्षाविद : सदस्य

ड़ीएससी द्वारा किए जाने वाले मुख्यकार्य इस प्रकार है

क) आवेदक द्वारा दिये गए तथ्यों/सूचना का सत्यापन टीम बनाकर भौतिक सत्यापन करना।
ख) संलग्नक-I में दिये गए प्रपत्र के अनुसार आवेदकों का मूल्यांकन/मार्किंग.
ग) ड़ीएससी द्वारा प्रमाणपत्र : ड़ीएससी प्रमाणित करेगी कि तथ्यों का उचित सत्यापन करने के बाद अंक प्रदान किए गए गए हैं ।
घ) ड़ीएससी आवेदनों का विस्तृत मूल्यांकन करने के बाद 3 नाम शॉर्टलिस्ट करेगी और इन्हे ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से तीनों आवेदकों के सतर्कता निकासी प्रमाणपत्रों के साथ राज्य चयन समिति को भेजेगी।
ङ) प्राप्त आवेदनों के अतिरिक्त ड़ीएससी असाधारण परिस्थितियों में विशेष शिक्षकों और स्कूलों के निशक्त अध्यापकों/प्रधानाचार्यों सहित उत्कृष्ट शिक्षकों में से अधिकतम एक व्यक्ति के नाम पर स्वत: विचार कर सकती है। मूल्यांकन संलग्नक-I में दिये गए प्रपत्र के अनुसार किया जाएगा।
च) ड़ीएससी अध्ययन के विभिन्न विषयों जैसे विज्ञान,कला,संगीत,शारीरिक शिक्षा आदि में शिक्षकों के निष्पादन को ध्यान में रखेगी। डीएससी अध्ययनों की विभिन्न धाराओं अर्थात विज्ञान, कला, संगीत, शारीरिक शिक्षा आदि में शिक्षकों के प्रदर्शन को ध्यान में रख सकता है।

राज्य चयन समिति(एस एस सी )

राज्य चयन समिति का अध्यक्ष राज्य शिक्षा विभाग का प्रधान सचिव/सचिव होगा। एस एस सी के सदस्य इस प्रकार होंगे:

क) राज्य शिक्षा विभाग का प्रधान सचिव/सचिव :अध्यक्ष
ख) केंद्र सरकार का नामिती .: सदस्य
ग) शिक्षा निदेशक/आयुक्त :सदस्य सचिव
घ) निदेशक,एससीईआरटी या यदि एससीईआरटी न हो तो समकक्ष अधिकारी : सदस्य

एसएससी द्वारा किए जाने वाले मुख्य कार्य इस प्रकार हैं :

क) सभी डीएससी से प्राप्त नामांकनों के तथ्यों/सूचना/अंकों का पुनः सत्यापन
ख) सभी नामांकनों का मूल्यांकन करना और संलग्नक-II के अनुसार राज्य/संघ शासित प्रदेश को आवंटित अधिकतम संख्या के अधीन सर्वोत्तम उम्मीदवारों की सूची तैयार करना और इसे ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से राष्ट्रीय स्तर पर स्वतंत्र जूरी को भेजना।

National Teacher Award Online Application Direct link

राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार के बारे में अधिक जानकारी तथा ऑनलाइन आवेदन करने के लिए यहां क्लिक करें

शिक्षकों को राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित करने का उद्देश्य देश के कुछ श्रेष्ठ शिक्षकों के अदिवतीय योगदान को पहचानना व सराहना है। यह पुरस्कार ऐसे होनहार तथा कर्त्तव्यनिष्ठ शिक्षकों के लिए एक प्रेरणास्त्रोत है जिन्होंने अपनी प्रतिबद्धता और परिश्रम के माध्यम से न केवल स्कूली शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार किया है, बल्कि अपने छात्रों के जीवन को भी समृद्ध बनाया है।
RELATED ARTICLES
spot_img

Most Popular

MP में तृतीय और चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों की परिवीक्षा अवधि दो साल की जा सकती है Digital Education Portal

कमल नाथ सरकार ने दो से बढ़ाकर तीन साल की थी परिवीक्षा अवधि। सामान्य प्रशासन विभाग ने पुरानी व्यवस्था लागू करने के लिए विचार-विमर्श...

नेशनल एजुकेशन पॉलिसी: 2000 टीचर्स ने 60 दिन में तैयार किया सेकंड ईयर का ई-कंटेंट, पोर्टल पर अपलोड Digital Education Portal

नए सत्र के लिए नया सिलेबस भी तैयार कर पोर्टल पर अपलोड कर दिया गयानए सिलेबस में जोड़े 10 वोकेशनल कोर्स, रोजगार पर ज्यादा...

🔥MPEB Big Breaking 🔥 मध्य प्रदेश प्राथमिक शिक्षक भर्ती परीक्षा 2018 का रिजल्ट घोषित, लंबे समय अंतराल के बाद जारी किया गया प्राथमिक शिक्षक...

मध्य प्रदेश स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा वर्ष 2018 में आयोजित की गई प्राथमिक शिक्षक भर्ती परीक्षा 2018 का रिजल्ट लंबे अंतराल के बाद आज...

JanDhan Yojana : जनधन खाताधारक बनेंगे अमीर, खाते में हर महीने मिलेंगे 3,000 रुपये, जानिए प्रक्रिया

JanDhan Yojana : जनधन खाताधारक बनेंगे अमीर, खाते में हर महीने मिलेंगे 3,000 रुपये, जानिए प्रक्रिया : साल 2014 में मोदी सरकार ने जन...