Tuesday, August 9, 2022
No menu items!
Homeeducationपद्म पुरस्कार पद्मा अवॉर्ड (सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार) ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित, जानिए...

पद्म पुरस्कार पद्मा अवॉर्ड (सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार) ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित, जानिए पद्म पुरस्कार के लिए पात्रता आवश्यक शर्तें एवं ऑनलाइन आवेदन करने की प्रक्रिया , आवेदन की अंतिम तिथि 15 सितंबर 2022

(Padma Award) पद्म पुरस्कार, अर्थात्, पद्म विभूषण, पद्म भूषण और पद्म श्री देश के सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार है। 1954 में स्थापित, इन पुरस्कारों की घोषणा प्रत्येक वर्ष गणतंत्र दिवस के अवसर पर की जाती है। इस पुरस्कार में “उत्कृष्ट कार्य को मान्यता प्रदान की जाती है और इसे सभी क्षेत्रों विषयों जैसे कला, साहित्य और शिक्षा, खेल, चिकित्सा, सामाजिक कार्य, विज्ञान और इंजीनियरी, सार्वजनिक मामलों, नागरिक सेवा, व्यापार और उद्योग आदि में विशिष्ट और असाधारण उपलब्धियों/सेवा के लिए प्रदान किया जाता है। कोई भी व्यक्ति, किसी जाति, व्यवसाय, हैसियत या लिंग के भेदभाव के बिना, इन पुरस्कारों के पात्र है।

“राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार- 2022” ऑनलाइन आवेदन की तिथि घोषित, जाने पात्रता, आवेदन की शर्ते, स्व नामांकन की प्रक्रिया एवं चयन के मापदण्ड, मूल्यांकन प्रक्रिया सहित सम्पूर्ण जानकारी 👇(Opens in a new browser tab)

इन पुरस्कारों के लिए भारत सरकार के सभी मंत्रालयों/विभागों के साथ-साथ अनेक अन्य स्रोतों से भी नामांकन आमंत्रित करने की परंपरा है ताकि इन पर व्यापक विचार-विमर्श किया जा सके।

HIGHLIGHTS PADHMA AWARD

पद्म पुरस्कार वर्ष 1954 में प्रारंभ किए गए थे। वर्ष 1978 1979 तथा 1993 से 1997 के दौरान थोडे से अंतराल को छोड़कर ये पुरस्कार प्रत्येक वर्ष गणतंत्र दिवस पर घोषित किए गए हैं।

‘राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार’ राष्ट्रपति पहली बार 47 शिक्षकों को वर्चुअल माध्यम से प्रदान करेंगे(Opens in a new browser tab)

ये पुरस्कार तीन श्रेणियों अर्थात् पद्म विभूषण, पद्म भूषण तथा पद्म श्री में प्रदान किए जाते हैं।

  • पद्म विभूषण असाधारण एवं विशिष्ट सेवा के लिए;
  • पद्म भूषण उच्च कोटि की विशिष्ट सेवा के लिए तथा
  • पद्म श्री विशिष्ट सेवा के लिए प्रदान किया जाता है।

इन पुरस्कारों को प्रदान करने का आशय किसी विशिष्ट कार्य को मान्यता प्रदान करना है तथा ये पुरस्कार सभी प्रकार की गतिविधियों/क्षेत्रों जैसे कि कला, साहित्य और शिक्षा, खेल-कूद, चिकित्सा, सामाज सेवा, विज्ञान और इंजीनियरिंग, लोक कार्य, सिविल सेवा, व्यापार और उद्योग आदि में विशिष्ट और असाधारण उपलब्धियों/सेवाओं के लिए प्रदान किए जाते हैं।

Padma Award पद्म पुरस्कार प्राप्त करने के लिए पात्रता

Padma Award : चयनित किए जाने वाले व्यक्ति की उपलब्धियों में लोक सेवा का तत्व होना चाहिए। यह किसी विशिष्ट क्षेत्र में उत्कृष्टता नहीं अपितु उत्कृष्टता से अधिक होना चाहिए।

सभी व्यक्ति जाति, व्यवसाय, पद अथवा लिंग के भेदभाव के बिना इन पुरस्कारों के लिए पात्र होते हैं। तथापि, सरकारी कर्मचारी जिनमें डॉक्टरों तथा वैज्ञानिकों को छोड़कर, सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रम में कार्य कर रहे कर्मचारी भी शामिल हैं. इन पुरस्कारों के लिए पात्र नहीं हैं।

कक्षा में पुरस्कार: मूर्त पुरस्कारों के पक्ष और विपक्ष(Opens in a new browser tab)

पद्म पुरस्कार (Padma Award) के लिए नामांकन/सिफारिशें केवल ऑनलाइन पोर्टल https://awards.gov.in पर स्वीकार की जाएंगी जिसे इसी उद्देश्य के लिए डिज़ाइन किया गया है। नामांकन/सिफारिश में अनुशंसित व्यक्ति की उससे संबन्धित क्षेत्र/ विषय में विशिष्ट और असाधारण उपलब्धियों का स्पष्ट रूप से उल्लेख करते हुए विवरणात्मक रूप में प्रशस्ति पत्र (अधिकतम 800 शब्द) सहित उपर्युक्त पोर्टल पर उपलब्ध प्रारूप में उल्लिखित सभी प्रासंगिक जानकारी दी जानी चाहिए। किसी व्यक्ति की ऑनलाइन सिफारिश करते समय, यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि सभी आवश्यक विवरण ठीक से भरे गए हैं। ऑनलाइन सिफारिश करने की क्रमवार प्रक्रिया उपर्युक्त वेबसाइट https://awards.gov.in पर बताई गई है। इन पुरस्कारों से संबंधित विधान और नियमावली वेबसाइट https://padmaawards.gov.in पर भी उपलब्ध है।

गणतंत्र दिवस, 2023 के अवसर पर घोषित पद्म पुरस्कार

ये पुरस्कार सामान्यतः मरणोपरान्त प्रदान नहीं किए जाते हैं तथापि, अत्यधिक पात्र मामलों में सरकार मरणोपरान्त पुरस्कार प्रदान करने पर विचार कर सकती है, यदि सम्मानित किए जाने के लिए प्रस्तावित व्यक्ति का निधन हाल ही में अर्थात् उस वर्ष के गणतंत्र दिवस से एक वर्ष पूर्व की अवधि के भीतर हुआ हो जिस पर उक्त पुरस्कार को घोषित किया जाना प्रस्तावित हो ।

जिन व्यक्तियों की सिफारिश की गई है, उनकी जीवनभर की उपलब्धि को देखते हुए, वे इस पुरस्कार के सर्वथा योग्य हों। चयन के लिए मानदंड अनिवार्य रूप से अत्यंत उत्कृष्ट होना चाहिए और इन पुरस्कारों के लिए व्यक्तियों की सिफारिश करते समय उच्चतम मानदंडों के आधार को अपनाना चाहिए। पुरस्कार के लिए अनुशंसित व्यक्ति की उपलब्धियों में सार्वजनिक सेवा एक वांछनीय घटक होगा।

चूंकि पद्म पुरस्कार देश का दूसरा सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार है, इसलिए यह भी विचार किया जाना चाहिए कि क्या अनुशंसित व्यक्ति को इससे पहले उनके संबंधित क्षेत्र में किसी राष्ट्रीय पुरस्कार या राज्य पुरस्कार से सम्मानित किया गया है अथवा नहीं।

इन पुरस्कारों के लिए महिलाओं, समाज के कमजोर वर्गों, जैसे अनुसूचित जातियों और जनजातियों, दिव्यांग व्यक्तियों, आदि में से ऐसे प्रतिभाशाली व्यक्तियों की पहचान करने के प्रयास किए जाएं जो पुरस्कार के लिए विचार किए जाने के हकदार हैं।

यह पुरस्कार आमतौर पर मरणोपरांत नहीं दिया जाता है। तथापि, अत्यंत पात्र मामलों में, सरकार मरणोपरांत पुरस्कार देने पर विचार कर सकती है, यदि सम्मानित किए जाने वाले व्यक्ति का निधन हाल ही के उस गणतंत्र दिवस से पहले एक वर्ष की अवधि के भीतर हुआ हो, जिस पर पुरस्कार की घोषणा किए जाने का प्रस्ताव है।

दिल्ली के डिप्टी सीएम का कहना है कि शिक्षक पुरस्कारों की संख्या 103 से बढ़कर 122 हो गई है Digital Education Portal(Opens in a new browser tab)

उच्चतर श्रेणी के पद्म पुरस्कार के लिए उस व्यक्ति के बारे में भी विचार किया जा सकता है जिन्हें यह पुरस्कार पहले प्रदान किया गया हो, बशर्ते इस बीच कम से कम पांच साल की अवधि बीत गई हो। हालांकि, असाधारण रूप से पात्र मामलों मेंछूट देने पर भी विचार किया जा सकता है।

पद्म पुरस्कार के लिए यह नहीं होंगे पात्र

डॉक्टरों और वैज्ञानिकों को छोड़कर, सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रमों में काम करने वाले व्यक्तियों सहित सरकारी सेवक पद्म पुरस्कार के लिए पात्र नहीं हैं।

पद्म पुरस्कार के लिए सिफारिश एवं समिति का गठन

सभी राज्य / संघ राज्य क्षेत्र सरकारों, भारत सरकार के मंत्रालयों/विभागों, भारत रत्न और पद्म विभूषण पुरस्कार प्राप्तकर्ताओं तथा उत्कृष्ट संस्थानों से हर वर्ष सिफारिशें आमंत्रित करना एक सामान्य प्रक्रिया है। इनसे तथा मंत्रियों, राज्य के मुख्यमंत्रियों / राज्यपालों, संसद सदस्यों तथा गैर-सरकारी व्यक्तियों, निकायों आदि जैसे अन्य स्रोतों से प्राप्त सिफारिशों को भी पद्म पुरस्कार समिति के समक्ष रखा जाता है। पद्म पुरस्कार समिति का गठन प्रति वर्ष प्रधानमंत्री द्वारा किया जाता है।

पद्म पुरस्कार समिति द्वारा की गई सिफारिशें प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति के अनुमोदनार्थ प्रस्तुत की जाती हैं।

एक वर्ष में प्रदान किए जाने वाले पुरस्कारों की कुल संख्या (मरणोपरान्त पुरस्कारों तथा विदेशियों को दिए जाने वाले पुरस्कारों को छोड़कर) 120 से अधिक नहीं होनी चाहिए।

इन पुरस्कारों की घोषणा प्रति वर्ष 26 जनवरी के अवसर पर की जाती है तथा राष्ट्रपति भवन में आयोजित पुरस्कार समारोह में भारत के राष्ट्रपति द्वारा प्रदान जाते हैं। यह समारोह सामान्यतः मार्च/अप्रैल माह में आयोजित किया जाता है।

पद्म पुरस्कार पद्मा अवॉर्ड ऑनलाइन आवेदन समय सारणी

पद्म पुरस्कार के लिए ऑनलाइन नामांकन/सिफारिश का कार्य 1 मई, 2022 से शुरू होगा और नामांकन की अंतिम तिथि 15 सितम्बर, 2022 है। अंतिम तिथि का सख्ती से पालन किया जाए क्योंकि 1 मई, 2022 से 15 सितम्बर, 2022 के बीच प्राप्त नामांकनों पर ही विचार किया जाएगा। यह भी ध्यान रखा जाना चाहिए कि केवल ऑनलाइन प्राप्त नामांकन/सिफारिशों पर ही विचार किया जाएगा।

नामांकन आमंत्रित करने की तारीख तथा नामांकन / सिफारिश की प्राप्ति की अंतिम तारीख क्रमश: 1 मई तथा 15 सितम्बर है। इस अवधि के दौरान प्राप्त नामांकनों पर ही विचार किया जाता है।

अगर आप को डिजिटल एजुकेशन पोर्टल द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी हो तो कृपया इसे अधिक से अधिक शिक्षकों के साथ शेयर करने का कष्ट करें|

Follow Us on Google News - Digital Education Portal
Follow Us on Google News – Digital Education Portal
digital Education portal

हमारे द्वारा प्रकाशित समस्त प्रकार के रोजगार एवं अन्य खबरें संबंधित विभाग की वेबसाइट से प्राप्त की जाती है। कृपया किसी प्रकार के रोजगार या खबर की सत्यता की जांच के लिए संबंधित विभाग की वेबसाइट विजिट करें | अपना मोबाइल नंबर या अन्य कोई व्यक्तिगत जानकारी किसी को भी शेयर न करे ! किसी भी रोजगार के लिए व्यक्तिगत जानकारी नहीं मांगी जाती हैं ! डिजिटल एजुकेशन पोर्टल किसी भी खबर या रोजगार के लिए जवाबदेह नहीं होगा

Team Digital Education Portal

RELATED ARTICLES
spot_img

Most Popular

MP में तृतीय और चतुर्थ श्रेणी के कर्मचारियों की परिवीक्षा अवधि दो साल की जा सकती है Digital Education Portal

कमल नाथ सरकार ने दो से बढ़ाकर तीन साल की थी परिवीक्षा अवधि। सामान्य प्रशासन विभाग ने पुरानी व्यवस्था लागू करने के लिए विचार-विमर्श...

नेशनल एजुकेशन पॉलिसी: 2000 टीचर्स ने 60 दिन में तैयार किया सेकंड ईयर का ई-कंटेंट, पोर्टल पर अपलोड Digital Education Portal

नए सत्र के लिए नया सिलेबस भी तैयार कर पोर्टल पर अपलोड कर दिया गयानए सिलेबस में जोड़े 10 वोकेशनल कोर्स, रोजगार पर ज्यादा...

🔥MPEB Big Breaking 🔥 मध्य प्रदेश प्राथमिक शिक्षक भर्ती परीक्षा 2018 का रिजल्ट घोषित, लंबे समय अंतराल के बाद जारी किया गया प्राथमिक शिक्षक...

मध्य प्रदेश स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा वर्ष 2018 में आयोजित की गई प्राथमिक शिक्षक भर्ती परीक्षा 2018 का रिजल्ट लंबे अंतराल के बाद आज...

JanDhan Yojana : जनधन खाताधारक बनेंगे अमीर, खाते में हर महीने मिलेंगे 3,000 रुपये, जानिए प्रक्रिया

JanDhan Yojana : जनधन खाताधारक बनेंगे अमीर, खाते में हर महीने मिलेंगे 3,000 रुपये, जानिए प्रक्रिया : साल 2014 में मोदी सरकार ने जन...