दरअसल सीएम राइज स्कूल में पढ़ाने के अलावा इतने कार्य कराए जा रहे हैं कि शिक्षक दबाव में आकर इनसे स्थानांतरण लेना चाहते हैं। शिक्षकों का कहना है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का ड्रीम प्रोजेक्ट सीएम राइस स्कूल है, अधिकारी और प्रिंसिपल मिलकर इस योजना को सफल बनाने में लगे हुए हैं। नवनियुक्त शिक्षक संघ ने स्‍कूल शिक्षा मंत्री से अपील है कि वह सीएम राइज स्कूलों के नियमों को थोड़ा लचीला करें, जिससे शिक्षक मानसिक तौर पर प्रताड़ित ना हो, नहीं तो आने वाले समय में कोई भी शिक्षक सीएम राइज स्कूलों में काम करने के लिए तैयार नहीं होगा।
इस कारण हो रहा मोहभंग
-रोजाना सीएम राइस के प्राचार्य मीटिंग के नाम पर शिक्षकों को शाम के छह बजे तक रोक रहे हैं, जबकि समय सीमा में यह मीटिंग करना है जिसका समय 5:15 तक है। इससे खासकर महिलाएं शिक्षकों को काफी दिक्‍कत हो रही है।
– महीने में एक बार ओवरनाइट मीटिंग, जिसको प्रिंसिपल महीने में दो बार ले रहे हैं और इसकी कोई समयसीमा नहीं है।
– शिक्षकों की भारी कमी होने की वजह से मौजूदा सीएम राइज शिक्षकों को सभी पीरियड पढ़ाने पड़ रहे हैं।
– प्रतिदिन शिक्षकों को लेसन प्लान और टीएनएम बनाना है, जिसके लिए अलग से समय नहीं दिया जा रहा है।
– प्राचार्य लगातार शिक्षकों को नोटिस एवं सर्विस बुक में दंडात्मक कार्रवाई की धमकी देते रहते हैं, जिसकी वजह से शिक्षक हमेशा मानसिक तनाव में रहते हैं।
  • # Teachers Transfer in MP
  • # Teachers transfer application
  • # CM Rise School
  • # Bhopal News in Hindi
  • # Bhopal Latest News
  • # Bhopal Samachar
  • # MP News in Hindi
  • # Madhya Pradesh News