EventsFeatured

20 मार्च इंटरनेशनल हैप्पीनेस डे : पर सुखी दांपत्य जीवन के टिप्स: सम्मान, प्यार और विश्वास ही नहीं…कुछ और भी है जरूरी

20 मार्च इंटरनेशनल हैप्पीनेस डे,इंटरनेशनल हैप्पीनेस डे,भूटान,

खुशियां ही खुशियां हों, दामन में जिसके, क्यों न खुशी से वो दीवाना हो जाए!– प्रसिद्ध फिल्म गीत

हिमालय की वादियों में बसा एक खूबसूरत देश, जो अपने पर्यावरण संरक्षण, सस्टेनेबल डेवलपमेंट और अद्वितीय कल्चरल हेरिटेज के लिए जाना जाता है – भूटान। एक ऐसा देश जो 1970 के दशक से ही GDP या ‘पर केपिटा इनकम’ के बजाय हैप्पीनेस के पैमाने द्वारा वेल-बीइंग (well-being) को मापने का हिमायती रहा है। इसी भूटान के प्रयासों से संयुक्त राष्ट्र वर्ष 2012 से हर वर्ष ‘20 मार्च’ को ‘इंटरनेशनल हैप्पीनेस डे’ सेलिब्रेट करता है।

Bhutan 1679235120

भारत में, तलाक कभी वर्जित माना जाता था और केवल विशिष्ट परिस्थितियों में ही ऐसा होता था। समय बदल गया, और आज तलाक अधिक स्वीकार्य हो गया है, खासकर शहरी क्षेत्रों में।

अब्यूसिव रिलेशन्स में तो अलग हो जाना ही ठीक है, लेकिन ये भी सच है कि अगर प्यार बना रहे, तो जीवन और करिअर दोनों बहुत हसीन हो जाते हैं।

आज इंटरनेशनल हैप्पीनेस डे के अवसर पर बात करेंगे इसी मुद्दे पर।

क्यों मनाया जाता है ये दिन? 

बता दें कि इस दिन को मनाने के पीछे का मुख्य उद्देश्य लोगों को सेहतमंद रहने के लिए हैप्पीनेस यानी खुशी के प्रति जागरूक करना है। संयुक्त राष्ट्र महासभा ने 12 जुलाई 2012 को एक संकल्प लिया। यह संकल्प विश्वभर के लोगों के जीवन में खुशी और अभिलाषाओं पर आधारित है। इस संकल्प को विश्व के समक्ष प्रस्तुत करते हुए 20 मार्च 2013 को अंतरराष्ट्रीय खुशी दिवस के रूप में घोषित किया। 

Join whatsapp for latest update

खुश रहने के लिए क्या करें ?

खुश रहने के लिए सबसे बड़ा मंत्र है शांत रहना, जी हां, मुश्किल परिस्थितियों में भी बुद्धिमान और समझदारी से काम लेने पर सफलता मिलती है। बेवजह के झगडे फसाद से दूरियां बनाकर रखें। हर संभव स्थिति में धैर्य रखना और शांत रहना ही खुशी और संतुष्टि की कुंजी है।

करिअर फंडा में स्वागत!

अंग्रेजी में कहते हैं कि आई लव यू, गुजराती मा बोले तने प्रेम करू छू, बंगाली में कहते हैं आमी तोमाके भालो बाशी और पंजाबी में कहते हैं, तेरी तो … तेरे बिन मर जाणा, मैं तैनु प्यार करणा …

Join telegram

झगड़े की शुरुआत

प्यार एक ऐसी फीलिंग है जिसे एक्सप्लेन नहीं किया जा सकता और जो हर कोई कभी न कभी महसूस करता है। बस ये समझ लीजिए की ‘टप्पा खाती हुई बॉल’ भी खूबसूरत लगती है। फिर ऐसा क्यों होता हैं कि तीन-चार साल बाद वही कपल एक दूसरे का मुंह देखना पसंद नहीं करते? आइए समझते हैं।

1) विपरीत आकर्षण (Opposites attract)

Opposite 1679235083

मनोवैज्ञानिकों के अनुसार मनुष्यों को हमेशा वही चीजें लुभाती हैं जो उसके पास नहीं होती। स्वाभाव और प्रकृति से एक समान पले-बढ़े जुड़वां बच्चे भी अलग हो सकते हैं, बाकी की तो बात ही क्या। कहने का अर्थ ये कि हम सभी एक दूसरे से अलग हैं और उन चीजों के प्रति आकर्षित होते हैं जो हम में नहीं होती। दरअसल उन चीजों को पाकर हम पूर्ण बनना चाहते हैं।

2) शादी होना और साथ में रहना (Marriage and living together)

Trouble 1679235061

दोस्ती, सगाई, डेटिंग और कोर्टशिप तक तो सब कुछ ठीक होता है, क्योकि तब तक हस्बेंड और वाइफ साथ-साथ रह नहीं रहे होते। लेकिन शादी के बाद जब वे साथ-साथ रहने लगते हैं तो पति-पत्नी रिलेशंस पर ‘आधे-अधूरे’ जैसा प्रसिद्ध नाटक को लिखने वाले ‘मोहन राकेश’ के लहजे में ‘रस्में तो पूरी होती हैं, लेकिन रिश्तें अभी अधूरे होते हैं’। अर्थात विपरीत व्यवहार विवादों का कारण बनने लगते हैं। इसके अलावा भी कई कारण हो सकते हैं जो विवाह में तनाव पैदा कर सकते हैं, जैसे कि वित्तीय कठिनाइयां, मिसकम्युनिकेशन, बेवफाई और अंतरंगता की कमी।

जब ऐसा होना निश्चित है तो फिर सॉल्यूशन क्या है?

शादी बनाए रखने के 3 स्ट्रॉन्ग टिप्स

पति-पत्नी का रिश्ता आपसी विश्वास, सम्मान और प्यार पर टिका होता है। स्वस्थ संबंध बनाए रखने की दिशा में काम करने के लिए दोनों भागीदारों की आवश्यकता होती है।

1) एक दूसरे को वो जैसा है वैसे ही अपनाना अर्थात इंडिविजुअलिटी का सम्मान

Individual 1679235036

शादी के तुरंत बाद एक चीज जो हस्बेंड और वाइफ दोनों में देखने को मिलती है वो ये कि दोनों एक-दूसरे को अपना प्यार जताने के लिए अपनी आदतें बदलने की कोशिश करने लगते हैं। पत्नी ससुराल वालों की भाषा सीखने की कोशिश करती है, और पति नॉन-वेज छोड़ने की कसम उठाता है! लेकिन भाग-दौड़ भरे जीवन में लम्बे समय में नैचुरली स्वयं की तरह न रहना ‘पेनफुल’ होता है और अनावश्यक टेंशन देता है।

अच्छा यह है कि शादी तभी करें जब आप सामने वाले व्यक्ति को वो जैसा है वैसा ही अपनाने को तैयार हो, अन्यथा नहीं।

एक दूसरे के लिए अपने को बदलना या दूसरे से ऐसी अपेक्षा करना ही बेवकूफी है क्योंकि इससे कहीं न कहीं आत्मसम्मान को भी ठेस लगती है।

2) सही कम्युनिकेशन बना कर रखना

Communicate 1679235018

वैज्ञानिकों ने विश्व के सभी मनुष्यों को मोटा-मोटा चार या पांच पर्सनालिटी टाइप्स में विभाजित किया है – जैसे डॉमिनेटिंग, केयरिंग, ऑर्गनाइज्ड, रेबेलियस इत्यादि। हर व्यक्ति इन्ही में से किसी न किसी पर्सनालिटी में फिट बैठता है। यदि हस्बेंड और वाइफ बात करते वक्त एक दूसरे की भाषा में बात कर पाए तो यह रिलेशन सुखद हो सकते हैं।

उदाहरण के लिए एक डॉमिनेटिंग हस्बेंड अपनी केयरिंग वाइफ से ऑथॉरिटेटिव लहजे में बात करने के बजाय धीरे, प्यार भरे शब्दों में बात कर सकता हैं। या कोई रेबेलियस वाइफ, अपने ऑर्गेनाइज़्ड पति की सामान को जगह पर रखने की आदत का सम्मान कर सकती है।

कहने का अर्थ है कम्युनिकेशन का अर्थ केवल शब्दों से नहीं है यह आपके व्यवहार और बॉडी लैंग्वेज में झलकना चाहिए।

3) क्वालिटी टाइम

Quality 1679234939

एक खुशहाल मैरिड लाइफ के लिए इसके अलावा साथ में क्वालिटी टाइम बिताना भी महत्वपूर्ण है।

यहां फिर क्लियर कर दूं, क्वालिटी टाइम का मतलब महंगाा और खर्चीला टाइम नहीं है। अर्थात इसके लिए महंगे रेस्टोरेंट या रिसॉर्ट में जाने की जरूरत नहीं है। क्वालिटी टाइम बंधन को मजबूत करने में मदद करता है और निकटता की भावना पैदा करता है। यह डेट पर जाने या साथ में सैर करने जितना आसान हो सकता है।

उम्मीद करता हूं मेरे सुझाव आपके लिए उपयोगी साबित होंगे – फिर भी किसी विकट स्थिति के लिए हमेशा पेशेवर, विशेषज्ञों से मदद लें!

आज का करिअर फंडा है कि इंटरनेशनल हेप्पीनेस डे पर, हम खुशहाल और स्वस्थ संबंध बनाने का प्रयास करें, अपने रिश्तों को प्राथमिकता देकर और स्वस्थ और पूर्ण साझेदारियों को बनाए रखने की दिशा में काम करें।

करिअर फंडा कॉलम आपको लगातार सफलता के मंत्र बताता है। जीवन में आगे रहने के लिए सबसे जरूरी टिप्स जानने हों तो ये करिअर फंडा भी जरूर पढ़ें…

1) डूबते अमेरिकी बैंकों और आर्थिक संकट से 5 सबक:फाइनेंशियल क्राइसिस आना तय है, तैयारी रखेंगे तो निपट भी जाएगा

1) गहरी और अच्छी नींद के लिए 6 जरूरी टिप्स:आराम हराम नहीं…अच्छी नींद से बनेगी सेहत, बढ़ेगी प्रोडक्टिविटी

2) दलाई लामा के जीवन से 5 बड़े सबक:शत्रुता को खत्म करो, शत्रु को नहीं…दया और उदारता हमेशा काम आती है

3) इन 5 किताबों से इंग्लिश बनेगी लाजवाब:किसी भी एग्जाम की तैयारी के लिए अंग्रेजी की सबसे अच्छी किताबें

4) कैलकुलेशन से इतिहास की डेट्स तक…अब हो रही बेकार:जॉब्स के बदलते नेचर के साथ स्किल्स को भी बदलना जरूरी

5) Pi से लीजिए सफलता के सबक:सि‌र्फ गणित के सिद्धांत ही नहीं, ग्रोथ और मोटिवेशन देता है π

6) कम पैसे में भी हो सकती है इम्प्रेसिव ड्रेसिंग:6 टिप्स जिनसे आप प्रोफेशनल लाइफ में कर सकते हैं पावर ड्रेसिंग

7) आंत्रप्रेन्योरशिप के लिए 5 सक्सेस मंत्र:आइडिया का बेहतर एक्जीक्यूशन करें…बिजनेस से अलग खुद की पहचान बनाएं

🔥🔥 Join Our Group For All Information And Update, Also Follow me For Latest Information🔥🔥
🔥 Whatsapp Group Join Now Whatsapp WhatsApp Group

Whatsapp Whatsapp Community

Whatsapp WhatsApp Channel
🔥 Facebook Page Digital Education PortalClick to follow us
🔥 Facebook Page Sarkari Naukary Click to follow us
🔥 Facebook Group Digital Education PortalDigita educatino portal
💁‍♀️ Class 5Th Blueprint 2023-24 : एमपी बोर्ड कक्षा पांचवी ब्लूप्रिंट समस्त विषय वार्षिक परीक्षा 2023-24 5
Telegram Channel Digital Education PortalTelegram
Telegram Group Digital Education PortalTelegram
Google NewsFollow us on google news - digital education portal
Follow us on TwitterTwitter

अगर आप को डिजिटल एजुकेशन पोर्टल द्वारा दी गई जानकारी अच्छी लगी हो तो कृपया इसे अधिक से अधिक शिक्षकों के साथ शेयर करने का कष्ट करें|

Follow us on google news - digital education portal
Follow Us On Google News – Digital Education Portal

हमारे द्वारा प्रकाशित समस्त प्रकार के रोजगार एवं अन्य खबरें संबंधित विभाग की वेबसाइट से प्राप्त की जाती है। कृपया किसी प्रकार के रोजगार या खबर की सत्यता की जांच के लिए संबंधित विभाग की वेबसाइट विजिट करें | अपना मोबाइल नंबर या अन्य कोई व्यक्तिगत जानकारी किसी को भी शेयर न करे ! किसी भी रोजगार के लिए व्यक्तिगत जानकारी नहीं मांगी जाती हैं ! डिजिटल एजुकेशन पोर्टल किसी भी खबर या रोजगार के लिए जवाबदेह नहीं होगा

Team Digital Education Portal

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close

Adblock Detected

Please Close Adblocker to show content