Govt Scheme

“एडॉप्ट एन आँगनवाड़ी” आंगनबाड़ियों में जन भागीदारी बढ़ाने के लिए मध्य प्रदेश सरकार का एक नया नवाचार, ऐसे जुड़े “एडॉप्ट एन आँगनवाड़ी” मुहिम से 👇

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आँगनवाड़ी केन्द्रों के उन्नयन और उसमें जन-सहयोग की संकल्पना को साकार करने के लिये “एडॉप्ट एन आँगनवाड़ी” जैसा नवाचार प्रारंभ किया। आँगनवाड़ी केन्द्रों में सामाजिक सहभागिता एवं जागरूकता के लिये चलाये जा रहे इस कार्यक्रम में आम नागरिक सहजता से अपना सहयोग दे रहे हैं।

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आँगनवाड़ी केन्द्रों के उन्नयन और उसमें जन-सहयोग की संकल्पना को साकार करने के लिये "एडॉप्ट एन आँगनवाड़ी" जैसा नवाचार प्रारंभ किया। आँगनवाड़ी केन्द्रों में सामाजिक सहभागिता एवं जागरूकता के लिये चलाये जा रहे इस कार्यक्रम में आम नागरिक सहजता से अपना सहयोग दे रहे हैं।
"एडॉप्ट एन आँगनवाड़ी" आंगनबाड़ियों में जन भागीदारी बढ़ाने के लिए मध्य प्रदेश सरकार का एक नया नवाचार, ऐसे जुड़े "एडॉप्ट एन आँगनवाड़ी" मुहिम से 👇 12
"एडॉप्ट एन आँगनवाड़ी" आंगनबाड़ियों में जन भागीदारी बढ़ाने के लिए मध्य प्रदेश सरकार का एक नया नवाचार, ऐसे जुड़े "एडॉप्ट एन आँगनवाड़ी" मुहिम से 👇
Adopt An Anganwadi

प्रदेश में लगभग 97 हजार 135 आँगनवाड़ी एवं मिनी आँगनवाड़ी संचालित है। इन केन्द्रों के माध्यम से 6 वर्ष तक के बच्चों, गर्भवती एवं धात्री माताओं को स्वास्थ्य एवं पोषण सेवाएँ तथा 3 से 6 वर्ष की आयु वर्ग के बच्चों को शाला पूर्व शिक्षा प्रदान की जा रही है।

अब तक एक लाख से अधिक पंजीयन

मुख्यमंत्री श्री चौहान का जन-भागीदारी जुटाने में एक और सफल नवाचार

संचालक महिला-बाल विकास डॉ. रामराव भोंसले ने बताया कि “एडॉप्ट एन आँगनवाड़ी” में अब-तक 93 हजार 32 आँगनवाड़ी केन्द्रों पर सहयोग के लिये 1 लाख 235 विभिन्न संस्थाओं/व्यक्तियों द्वारा पंजीयन करवाया गया है। महिला-बाल विकास विभाग द्वारा इन सभी सहयोगियों से सम्पर्क किया गया। सम्पर्क के बाद 95 हजार 971 द्वारा सहमति व्यक्त की गयी।

डॉ. भोंसले ने बताया कि “एडॉप्ट एन आँगनवाड़ी” में सहयोगकर्ता और दानदाता केन्द्रों की आधारभूत आवश्यकताओं, बच्चों की व्यक्तिगत आवश्यकता तथा स्वास्थ्य एवं पोषण व्यवस्थाओं में सहयोग कर अपनी सहभागिता कर सकते हैं।

उन्होंने बताया कि नवीन आँगनवाड़ी भवन निर्माण, भवन में अतिरिक्त कक्ष का निर्माण, मरम्मत कार्य, पूर्व निर्मित भवनों में बाउंड्रीवॉल का निर्माण, झूला, फिसल पट्टी, सीस झूला एवं फर्नीचर आदि के लिये लगभग 6 करोड़ 80 लाख की सहमति प्रदान की गई है।

प्रदेश में 7 करोड़ 99 लाख रूपये की लागत का सहयोग बच्चों की यूनिफार्म, गर्म कपड़े, स्वेटर, केप, जूते-चप्पल, बेग, खिलौने आदि सामग्री के लिये प्राप्त है।

Join whatsapp for latest update
20220524 1655536620261719885944365

कैसे जुड़े “एडॉप्ट एन आँगनवाड़ी” कार्यक्रम से

संचालक डॉ. भोंसले ने बताया कि सहयोगकर्ताओं द्वारा पोषण और सुपोषण घटक में बच्चों के मध्यम एवं गंभीर कुपोषण निवारण के लिये थेरेपेटिक न्यूट्रीशन एवं दवाइयों के लिये एक करोड़ 98 लाख रूपये का सहयोग प्राप्त हुआ है।

उन्होंने बताया कि “एडॉप्ट एन आँगनवाड़ी” कार्यक्रम से जुड़ने के लिये मोबाईल नम्बर 8989622333 पर मिस्ड कॉल अथवा weblink https//mpwcdmis.gov.in/AwcadoptionDetails.aspx लिंक पर जाकर पंजीयन कराया जा सकता है। पंजीयन के बाद संबंधित जिला अधिकारी द्वारा इच्छुक सहयोगकर्ता से सम्पर्क किया जाकर चिन्हित आँगनवाड़ियों की आवश्यकताओं एवं इसके लिये आवश्यक सहयोग राशि से अवगत कराया जा सकता है।

Join telegram

मध्य प्रदेश मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का संदेश

प्रदेश में “एडॉप्ट एन आँगनवाड़ी” अभियान संचालित है। इस अभियान को गति प्रदान करने के लिये मैं स्वयं हाथ ठेला लेकर जनता से आँगनवाड़ी केन्द्र के बच्चों के लिये खिलौने और स्टेशनरी सामग्री देने का आहवान करूंगा। अभियान के प्रारंभ होने के बाद से अनेक नागरिक सहयोग के लिये आगे आये हैं। मेरा यह मानना है कि इस अभियान को जनता के सहयोग से ही बेहतर ढंग से संचालित किया जा सकता है। यदि स्वैच्छिक सहयोग मिलता है तो इन केन्द्रों की न सिर्फ उपयोगिता बढ़ेगी बल्कि ऐसे बच्चें भी आँगनवाड़ी केन्द्रों पर पहुँचेंगे, जो अभी नही आ रहे। ग्रामीण क्षेत्रों में हमारे किसान भाइयों ने भी अनाज उपलब्‍ध करवाया है। शहरी क्षेत्रों में बच्चों को स्कूल बेग, कलर्स के साथ ही कॉमिक्स और अन्य शिक्षाप्रद साहित्य उपलब्ध हों, इसके लिये जन-सहयोग आवश्यक है। आँगनवाड़ी केन्द्रों में आने वाले बच्चे जीवन में अभाव महसूस न करें, इसके लिये सरकार और समाज को संयुक्त प्रयास करना होंगे।

– श्री शिवराज सिंह चौहान
मुख्यमंत्री, म.प्र. शासन

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Please Close Ad Blocker

हमारी साइट पर विज्ञापन दिखाने की अनुमति दें लगता है कि आप विज्ञापन रोकने वाला सॉफ़्टवेयर इस्तेमाल कर रहे हैं. कृपया इसे बंद करें|