B.ed-D.ededucationEducational Newsexam

💥बड़ी खबर💥 DED BED ADMISSION 2022-23 मध्‍य प्रदेश के 365 एवं देशभर के इन 10993 डीएड-बीएड कालेजों का सत्र शून्य, नहीं ले पाएंगे प्रवेश, यहां देखे कॉलेजों की सूची

नेशनल काउंसिल फार टीचर्स एजुकेशन(एनसीटीई) ने परफार्मेंस अप्रेजल रिपोर्ट न भरने पर प्रदेश के 365 डीएड व बीएड कालेजों का शैक्षणिक सत्र 2022-23 के लिए शून्य घोषित कर दिया है। ये कालेज अब इस सत्र में प्रवेश नहीं ले पाएंगे। इसके लिए एनसीटीई ने प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों को कालेजों की सूची के साथ पत्र भी जारी कर दिए हैं कि उन्हें संबद्धता प्रदान न की जाए। ग्वालियर में ऐसे 51, भोपाल व इंदौर में 18-18, और जबलपुर में चार कालेज हैं। इन कालेजों को सत्र 2020-21 में परफार्मेंस अप्रेजल रिपोर्ट भरनी थी, लेकिन कालेज संचालक इससे बचने के लिए कानूनी लड़ाई लड़ रहे थे।

ग्वालियर। नेशनल काउंसिल फार टीचर्स एजुकेशन(एनसीटीई) ने परफार्मेंस अप्रेजल रिपोर्ट न भरने पर प्रदेश के 365 डीएड व बीएड कालेजों का शैक्षणिक सत्र 2022-23 के लिए शून्य घोषित कर दिया है। ये कालेज अब इस सत्र में प्रवेश नहीं ले पाएंगे। इसके लिए एनसीटीई ने प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों को कालेजों की सूची के साथ पत्र भी जारी कर दिए हैं कि उन्हें संबद्धता प्रदान न की जाए। ग्वालियर में ऐसे 51, भोपाल व इंदौर में 18-18, और जबलपुर में चार कालेज हैं। इन कालेजों को सत्र 2020-21 में परफार्मेंस अप्रेजल रिपोर्ट भरनी थी, लेकिन कालेज संचालक इससे बचने के लिए कानूनी लड़ाई लड़ रहे थे।
Ded Bed Zero Academic Year College List Ncte

सभी डीएड-बीएड कालेजों के लिए परफार्मेंस अप्रेजल रिपोर्ट भरना अनिवार्य

एनसीटीई ने सभी डीएड-बीएड कालेजों के लिए परफार्मेंस अप्रेजल रिपोर्ट भरना अनिवार्य कर दिया है। एनसीटीई की तरफ से यह फैसला सुप्रीम कोर्ट की ओर से गत एक अप्रैल को दिए गए आदेश के बाद जारी किया गया है। एनसीटीई की ओर से पूर्व में सभी डीएड-बीएड कालेजों को परफार्मेंस अप्रेजल रिपोर्ट भरने का निर्देश दिया गया था, लेकिन कालेज संचालक इसका पालन नहीं कर रहे थे।

परफार्मेंस अप्रेजल रिपोर्ट के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट पहुंचे कॉलेज संचालक

इसके खिलाफ कालेज संचालकों ने न्यायालय की शरण ली थी। मामला सुप्रीम कोर्ट तक पहुंचा, जहां सुनवाई के बाद सुप्रीम कोर्ट ने फैसला एनसीटीई के पक्ष में दिया। कालेजों को गत दो अप्रैल तक रिपोर्ट भरनी थी। एनसीटीई की 27 अप्रैल को हुई जनरल बाडी की बैठक के बाद एक अधिसूचना जारी की गई है। इसमें उल्लेख है कि जिन कालेजों ने परफार्मेंस अप्रेजल रिपोर्ट नहीं भरी है, उन कालेजों का वर्ष 2022-23 का सत्र शून्य घोषित कर दिया जाएगा। इसके साथ ही एनसीटीई ने मध्य प्रदेश में 1251 डीएड-बीएड कालेजों में से सिर्फ 886 को ही मान्यता जारी की है।

NCTE ने इन कॉलेजों में प्रवेश पर रोक के लिए जारी किया पब्लिक नोटिस

नेशनल काउंसिल फार टीचर्स एजुकेशन(एनसीटीई) ने परफार्मेंस अप्रेजल रिपोर्ट न भरने पर प्रदेश के 365 डीएड व बीएड कालेजों का शैक्षणिक सत्र 2022-23 के लिए शून्य घोषित कर दिया है। ये कालेज अब इस सत्र में प्रवेश नहीं ले पाएंगे। इसके लिए एनसीटीई ने प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों को कालेजों की सूची के साथ पत्र भी जारी कर दिए हैं कि उन्हें संबद्धता प्रदान न की जाए। ग्वालियर में ऐसे 51, भोपाल व इंदौर में 18-18, और जबलपुर में चार कालेज हैं। इन कालेजों को सत्र 2020-21 में परफार्मेंस अप्रेजल रिपोर्ट भरनी थी, लेकिन कालेज संचालक इससे बचने के लिए कानूनी लड़ाई लड़ रहे थे।
Ncte Public Notice Regarding Ded Bed
नेशनल काउंसिल फार टीचर्स एजुकेशन(एनसीटीई) ने परफार्मेंस अप्रेजल रिपोर्ट न भरने पर प्रदेश के 365 डीएड व बीएड कालेजों का शैक्षणिक सत्र 2022-23 के लिए शून्य घोषित कर दिया है। ये कालेज अब इस सत्र में प्रवेश नहीं ले पाएंगे। इसके लिए एनसीटीई ने प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों को कालेजों की सूची के साथ पत्र भी जारी कर दिए हैं कि उन्हें संबद्धता प्रदान न की जाए। ग्वालियर में ऐसे 51, भोपाल व इंदौर में 18-18, और जबलपुर में चार कालेज हैं। इन कालेजों को सत्र 2020-21 में परफार्मेंस अप्रेजल रिपोर्ट भरनी थी, लेकिन कालेज संचालक इससे बचने के लिए कानूनी लड़ाई लड़ रहे थे।

देश भर के इन 10993 कॉलेजों का b.Ed d.Ed सत्र शून्य घोषित, इन कॉलेजों में नहीं कर पाएंगे ded bed यहां देखें कॉलेजों की सूची

Rashtriy adhyapak Shiksha Parishad ncte राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद नई दिल्ली भारत द्वारा देशभर के 10993 कॉलेजों को बीए बीएड में प्रवेश पर रोक लगा दी है। यानी कि अब यह कॉलेज सत्र 2022 23 के लिए ded bed प्रवेश नहीं दे पाएंगे। आपको बता दें कि एनसीटीई द्वारा इन कॉलेज का सत्र 2022 23 का सत्र शून्य घोषित किया गया है ,क्योंकि इनके द्वारा परफारमेंस अप्रेजल रिपोर्ट जमा नहीं की गई तथा इसके विरुद्ध इनके द्वारा सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया गया था।

लेकिन सुप्रीम कोर्ट द्वारा राष्ट्रीय शिक्षा परिषद के पक्ष में फैसला देने के बाद एनसीटीई की बैठक में लिए गए निर्णय अनुसार कुल 10993 कॉलेजों में बीए बीएड प्रवेश पर रोक लगा दी है।

B.Ed b.Ed करने वाले विद्यार्थियों को सलाह दी जाती है कि वे नीचे दी गई सूची के कालेजों में d.Ed b.Ed के लिए प्रवेश ना लें क्योंकि इन कालेजों को प्रवेश देने के लिए प्रतिबंधित किया गया है।

Join whatsapp for latest update

यहां देखें शून्य सत्र घोषित देशभर के 10993 कॉलेजों की लिस्ट 👇

Join telegram
Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close

Adblock Detected

Please Close Adblocker to show content