corona

Breaking live मध्य प्रदेश में कोरोना के सारे रिकॉर्ड टूटे, आंकड़े देख सरकार ने यह आदेश जारी किए #कोविड19

मध्य प्रदेश में कोरोना मरीजों की संख्या 38 हजार 157 तक पहुंच गई है। गृह विभाग ने एक आदेश जारी कर कहा कि सभी जिलों में तीन दिन के अंदर डिस्ट्रिक्ट क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक की जाए। इस ग्रुप को जिलों में कोरोना और त्यौहारों को देखते हुए नई गाइडलाइन जारी करने को कहा गया है। बीते 24 घंटे में राज्य में 859 नए मामले सामने आए। यह एक दिन पहले मिले 734 केस से 125 ज्यादा है।

भोपाल में 101 और ग्वालियर में सबसे ज्यादा 142 नए केस सामने आए हैं। राज्य में बीते 24 घंटे में 15 मरीजों की मौत हो गई। प्रदेश में कोरोना से अब तक 977 मरीजों की मौत हो चुकी है। इंदौर में सबसे ज्यादा 330 और भोपाल में 211 मरीजों की मौत हुई है।

कोरोना संक्रमित कुल 28353 ठीक हो चुके हैं। शनिवार को 732 लोग स्वास्थ्य होकर घर लौट गए। राज्य में अब एक्टिव केस की संख्या 8827 हो गई है।

कोरोना अपडेट्स:

यहां 10 से अधिक कोरोना मरीज मिले

भोपाल में 101, इंदौर 184, ग्वालियर 142, जबलपुर में 61, उज्जैन में 14, मुरैना में 32, बड़वानी में 22, नीमच में 16, सागर में 13, रतलाम में 24, रायसेन में 15, राजगढ़ में 16, विदिशा 12, सीहोर 15, दमोह में 10, सतना में 14, नरसिंहगढ़ में 17, कटनी में 31, झाबुआ में 11 और सिंगरौली में 32 बीते चौबीस घंटे में नए केस मिले।

भोपाल में कुछ राहत

Join whatsapp for latest update

राजधानी भोपाल में रविवार को कोरोना संक्रमण के मामले में कुछ कम आने से राहत की बात रही। रविवार को जारी रिपोर्ट में 101 कोरोना के नए केस मिले हैं। शहर में 2099 संदिग्धों के सैंपल लिए गए। इसमें से 1999 सैंपल निगेटिव आए। जीएमसी भोपाल में 83 सैंपल में से एक भी सैंपल पॉजिटिव नहीं आया।

इन 5 जिलों में सर्वाधिक नए मरीज

Join telegram

जिलेवार समीक्षा में पाया गया कि इंदौर, भोपाल, जबलपुर, ग्वालियर और मुरैना में सबसे ज्यादा कोरोना केस पाए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने एक बार फिर इन सभी जिलों में विशेष ध्यान रखे जाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने यहां पर क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की लगातार बैठक करने और नए प्रयास करने पर जोर देने के आदेश दिए।

होम आइसोलेशन वाले मरीजों की मॉनीटरिंग की जाएगी

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कोविड-19 की समीक्षा बैठक के दौरान कहा कि बिना लक्षण वाले ऐसे मरीज जिनके घर में व्यवस्था है और जो घर पर ही रहना चाहते हैं। उनके होम आइसोलेशन के दौरान उनके उपचार एवं देखभाल की मॉनीटरिंग की अच्छी व्यवस्था बनाएं। इस संबंध में स्वास्थ्य विभाग गाइडलाइन तैयार कर प्रत्येक जिले को भिजवाए। जिलों की ही तरह सब डिविजन स्तर पर भी क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप बनाए जाएं, जो वहां की परिस्थितियों के अनुरूप कोरोना नियंत्रण का कार्य करें।

कटनी में 7 दिन में पॉजिटिव रेट 7.36%

कटनी जिले की समीक्षा के दौरान पाया गया कि गत 7 दिनों में वहां पॉजिटिविटी दर 7.36% आई है। जिले में वर्तमान में 221 पॉजीटिव व 77 एक्टिव मरीज हैं। 139 स्वस्थ होकर घर पहुंचे और 5 की मौत हो गई। जिले में टेस्टिंग कम है। मुख्यमंत्री ने जिले में टेस्टिंग बढ़ाई जाने के निर्देश दिए।

प्रदेश में 1185 मरीज ‘होम आइसोलेशन’ में

अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य ने बताया कि प्रदेश में बिना लक्षण वाले 1185 कोरोना मरीजों को ‘होम आइसोलेशन’ में रखा गया है, इनमें से मुख्य रूप से इंदौर में 492, जबलपुर में 326, ग्वालियर में 113, भोपाल में 47 तथा शिवपुरी में 42 मरीजों को ‘होम आइसोलेशन’ में रखा गया है।

सतना और झाबुआ भी विशेष ध्यान दें.

सतना और झाबुआ जिले में पॉजिटिविटी रेट ज्यादा पाया गया है। इस पर सीएम ने झाबुआ जिले को टेस्टिंग बढ़ाए जाने के निर्देश दिए गए। वहां प्रति व्यक्ति 10 लाख टेस्टिंग 2 से 2.5 हजार है, जो कि काफी कम है।

यह भी पढ़े मध्यप्रदेश में कोरोना का अब तक का सबसे बड़ा कहर पिछले 24 घंटे में तोड़े सारे रिकॉर्ड जनियेब तक सबसे अधिक 734 कोविड19 पॉजिटिव केस मिले जाने जिलेवार मरीजों की संख्या

Show More

Leave a Reply

Back to top button
Close

Adblock Detected

Please Close Adblocker to show content